मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 71, अक्टूबर(द्वितीय), 2019

*पुस्तक विमोचन व विराट कवि सम्मेलन तमनार में सम्पन्न*

*दर्दोगम की बस्ती नामक पुस्तक हृदय को उद्वेलित करने वाली है - जयशंकर*

*रायगढ़* :- औद्योगिक व वनांचल तहसील तमनार के नवदुर्गा समिति बरभांठा द्वारा पुस्तक विमोचन एवं विराट कवि सम्मेलन का सफल आयोजन गत् दिवसांक 05 अक्टूबर को किया गया ।

उक्त आयोजन के मुख्य अतिथि रायगढ़ के ख्यातिलब्ध साहित्यकार पं. शिवकुमार पाण्डेय जी , कार्यक्रम अध्यक्ष गजलकार शुकदेव पटनायक जी , विशिष्ट अतिथि प्रो. के. के. तिवारी जी व कवि कमल बहिदार जी थे ।

कार्यक्रम के प्रथम चरण में माँ ज्ञानदात्री महासरस्वती जी के छायाचित्र पर माल्यार्पण व समक्ष दीप , धुप प्रज्वलित करके कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ किया गया ।

तत्पश्चात स्वागत के क्रम में आयोजक समिति के सक्रिय सदस्यों ने सभी साहित्यकारों को तिलक लगाकर व श्रीफल प्रदान करके स्वागत - सम्मान किये ।

स्वागत पश्चात् अंचल के प्रतिष्ठित गजलकार जयशंकर प्रसाद डनसेना जी द्वारा सृजित गजल संग्रह "दर्दोगम की बस्ती" नामक पुस्तक का विमोचन अतिथियों व आमंत्रित कवियों के हाथों से हुआ ।

अपने उद्बोधन में जयशंकर जी ने कहा कि - "मैं , जल - जंगल व जमीन को लक्ष्य बनाकर जो गजल सृजन किया हूँ । वह , प्रत्येक आंचलिक के हृदय को उद्वेलित करने वाली है । समस्त रचनाएँ मात्र कोरी कल्पना नहीं वरन् यथार्थ के धरातल पर सृजित की गई गजल है । आशा है , पाठक जगत स्वागत करेंगे ।।

तृतीय चरण में आमंत्रित रचनाकारों द्वारा अपने - अपने प्रतिनिधि कविताओं का पाठ किया गया ।

जिसमें पं. शिवकुमार पाण्डेय , प्रो. के. के. तिवारी , कमल बहिदार , राघवेन्द्र सिंह रुहेल , डॉ. दिलीप गुप्ता , शुकदेव पटनायक , रूखमणी राजपूत , स्नेहलता सिंह 'स्नेह' , पुष्पलता पटनायक , संतोष पैंकरा , उग्रसेन स्वर्णकार , तेजराम चौहान , जय शंकर प्रसाद डनसेना , बालकवि प्रमोद सोनवानी 'पुष्प' , सिमरन साहू , कन्हैया पड़िहारी , मिमिक्री कलाकार सेतकुमार गुप्ता आदि प्रमुख हैं ।

कार्यक्रम के अंतिम चरण में आयोजक समिति द्वारा सभी प्रतिभागी रचनाकारों को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया ।

कुशल मंच संचालन घरघोड़ा से पधारे प्रतिष्ठित कवि डॉ. दिलीप गुप्ता जी ने किया ।

आयोजन को सफल बनाने में रूपचन्द्र गुप्ता , परमानंद पटनायक , डॉ. मित्रभान गुप्ता , अरविन्द गुप्ता , प्रमोद साव , गोपाल गुप्ता , प्रदीप नायक आदि की भूमिका सराहनीय रही ।

उक्त सफल कवि सम्मेलन अंचल में चर्चा का विषय है ।


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें