मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 71, अक्टूबर(द्वितीय), 2019

हिम्मत

सौरभ कुमार ठाकुर

तुम कुछ कर सकते हो तुम आगे बढ़ सकते हो । तुममे है बहुत हिम्मत तुम जग को बदल सकते हो । तुम खुद से हिम्मत नही हारना । कभी खुद का भरोसा मत हारना । तुम झूठ का मार्ग छोड़ सच्चाई के रास्ते पर चलते रहना । मुसीबत बहुत आते हैं जीवन में बस डट कर सामना करना । तुम ही देश के भविष्य हो यह बात हमेशा याद रखना । आत्मविश्वास बनाए रखो तुम हर कार्य पूरा कर पाओगे अपनी प्रयास तुम जारी रखो एक दिन जरुर सफल हो जाओगे । तुम करना कुछ ऐसा की, सारी दुनिया तुम्हारे गुण गाए । तुम बनना ऐसा की महानों की, महानता भी कम पड़ जाए । तुम रखना हिम्मत इतना की, वीर योद्धा की तलवार भी झुक जाए । तुम बनना इतना सच्चा की हरीशचंद्र के बाद तुम्हारा नाम लिया जाए


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें