Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 47, अक्टूबर(द्वितीय) , 2018



हाइकु


अशोक कुमार ढोरिया


 
1.
प्रदूषण से होता जीवन नष्ट बढ़ता कष्ट
2.
घटते पेड़ मानव जीवन में त्रासदी लाते
3.
अमूल्य धन बर्बाद ना कर शीतल जल
4.
व्यस्त पल है जल है तो कल है वर्ना छल है
5.
एक कहानी सबको है बतानी बचाओ पानी
6.
नेक इरादे चुनौतियाँ अपार हार न मानें
7.
कैसा ये फर्ज़ देकर मृत्युभोज चुकाता कर्ज़
8.
सोच बदलो तुच्छ राजनीति की इरादे नहीं
9.
न्याय दिलाते त्याग वाद विवाद समझदार
10.
ढूंढो उपाय रोग है भयानक भ्रष्टाचार का

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें