साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 70, अक्टूबर(प्रथम), 2019

परिचय

अनुपमा तिवाड़ी

नाम: – अनुपमा तिवाड़ी

जन्मतिथि – 30 जुलाई 1966

जन्मस्थान – बाँदीकुई ( दौसा ) राजस्थान.

माता – पिता – मायारानी तिवाड़ी एवं विजय कुमार तिवाड़ी

शिक्षा – हिंदी और समाजशास्त्र में एम. ए तथा पत्रकारिता एवं जनसंचार में स्नातक।

कार्यानुभव – 1989 से शिक्षा जगत में कच्ची बस्ती और ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों की शिक्षा और राजकीय शिक्षकों के साथ अकादमिक संबलन के कार्य से जुड़ी रही हूँ, साथ ही बाल अपचारी गृह के बच्चों, घर से निकले रेलवे प्लेटफॉर्म पर रहने वाले बच्चों, देह व्यापार में लिप्त परिवारों व शौचालयों में काम करने वाले परिवारों के बच्चों, तथा कामकाजी बच्चों के साथ उनकी शिक्षा व वंचितता पर काम करती रही हूँ वर्तमान में वर्ष 2011 से अज़ीम प्रेमजी फाउंडेशन राजस्थान में हिंदी विषय की सन्दर्भ व्यक्ति के रूप में कार्यरत हूँ.

संलग्न – कवयित्री, कहानीकार और सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में।

रचनाकर्म – 1988 से लेखन की शुरूआत की. लिखने की प्रेरणा मुझे मुझे आस – पास के लोगों, सामाजिक मुद्दों और स्वयं के जीवन से मिली. लेखन की शुरुआत से अब तक राष्ट्रीय – अंतर्राष्ट्रीय स्तर की 60 से अधिक पत्र – पत्रिकाओं में कविताएँ, कहानियाँ, लघुकथाएँ, और लेख प्रकाशित हुए हैं। जिनमें नया ज्ञानोदय, निकट, पुरवाई, लमही, अहा जिंदगी, परिकथा, जनसत्ता, डेली न्यूज़, एक और अंतरीप, आधी आबादी की यात्रा, अहा ज़िंदगी, हिंदुस्तान टाइम्स, अमन पथ, दैनिक भास्कर, राजस्थान पत्रिका, बढ़ता राजस्थान, ताज भारती, निराला जयपुर, लोकमत, अनुराग, उजाला छड़ी, मधुराक्षर, ककसाड़, जनपथ, अक्षर पर्व, सुबह सवेरे, युगपक्ष, युद्धरत आम आदमी, माही सन्देश, शैक्षिक दखल, प्रवाह, कादंबिनी, विमर्श, नवयुग, फोकस भारत, नवभारत टाइम्स, बढ़ता राजस्थान, अनौपचारिका, महका भारत, विमर्श, रेवांत, समहुत, आजकल, लोकचिंतन मासिक, खोजो और जानें आदि प्रमुख हैं तथा कविताकोश, ई – मैगजीन्स / ब्लॉग्स में स्त्रीकाल, टीचर्स ऑफ इंडिया, साहित्य कुञ्ज, इन्फ़ोकस, प्रतिलिपि, स्टोरीमिरर, शब्दांकन, हिन्दीनेस्ट, सेतु, लल्लनटाप, स्वयंसिद्धा, हिंदी लेखनी, ई – कल्पना, फर्गुदिया, ई – कल्पना, स्वयंसिद्धा, बिजूका और अपनी माटी मुख्य हैं।

• पहला कविता संग्रह ‘आईना भीगता है’ 2011 में बोधि प्रकाशन, जयपुर से प्रकाशित।

• दूसरा कविता संग्रह ‘भरोसा अभी बचा है’ 2018 में ‘राजस्थान साहित्य अकादमी’ द्वारा चयनित ( आर्थिक सहयोग ) व बोधि प्रकाशन द्वारा प्रकाशित ।

• वर्षों से विभिन्न मंचों पर कविता, कहानी पठन ।

• आकाशवाणी, दूरदर्शन पर कहानी व कविताओं का नियमित प्रसारण ।

• वर्ष 2017 में ‘बदलते परिवेश में शिक्षक की भूमिका’ विषय पर ( अज़ीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी बेंगलौर और अम्बेडकर यूनिविर्सिटी दिल्ली ) द्वारा आयोजित सेमीनार में पेपर प्रस्तुत व प्रकाशित.

• वर्ष 2018 में ‘विज्ञान पढ़ाने का तरीका व उसमें बच्चों के अनुभव की भूमिका’ विषय पर ( अज़ीम प्रेमजी विश्वविद्यालय बैंगलोर व भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान मोहाली, (IISER) पंजाब ) द्वारा आयोजित सेमीनार में पेपर प्रस्तुत व प्रकाशित.

• वर्ष 2019 में ‘गणित शिक्षण, अपेक्षाएँ और चुनौतियाँ’ विषय पर दिल्ली विश्वविद्यालय ( शिक्षा संकाय ) व अज़ीम प्रेमजी विश्वविद्यालय बैंगलोर द्वारा आयोजित सेमीनार में पेपर प्रस्तुत व प्रकाशित.

• वर्ष 2016 में ‘पर्यावरण पुरूस्कार’ ( अल अमीरिया संस्था, टोंक द्वारा ).

• वर्ष 2017 में ‘बेटी सृष्टि रत्न एवार्ड’ ( कुरजां, सेव थे चिल्ड्रन जयपुर द्वारा ).

• वर्ष 2018 में ‘वुमन ऑफ़ द फ्यूचर एवार्ड’ ( फर्स्ट इंडिया, जयपुर द्वारा ).

• वर्ष 2018 में ‘प्रतिलिपि कथा सम्मान’.

पता – ए - 108, रामनगरिया जे डी ए स्कीम,

एस के आई टी कॉलेज के पास, जगतपुरा, जयपुर 302017

फोन : 7742191212, 9413337759 Mail – anupamatiwari91@gmail.com Email:anupamatiwari91@gmail.com