मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 72, नवंबर(प्रथम), 2019

"मंगल ग्रह के जुगनू- 6" का विमोचन

राही सहयोग संस्थान की बाल साहित्य श्रृंखला की पुस्तक "मंगल ग्रह के जुगनू" का विमोचन पिछले सप्ताह अहमदाबाद में किया गया। विमोचन श्री नवीन अग्रवाल, प्रो अमित गर्ग, श्रीमती चारु गर्ग, श्रीमती माधुरी पांडे, प्रो आस्था अगरवाला, श्रीमती ममता गोयल, श्री किशोर, प्रो निहारिका वोरा, प्रो सोभेश कुमार अगरवाला, और श्री प्रबोध कुमार गोविल ने किया।

पुस्तक की इस श्रंखला के लेखक प्रबोध कुमार गोविल हैं। विमोचन के अवसर पर शहर के कई शिक्षाविद् तथा साहित्यकार शामिल थे। इस पुस्तक का प्रकाशन जयपुर के अंजलि प्रकाशन ने किया है। बाल साहित्य की इस कृति के लोकार्पण का लुत्फ़ उठाने के लिए समारोह में बड़ी संख्या में बच्चे भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर श्री प्रबोध कुमार गोविल ने कहा कि प्रायः अहिंदी भाषी राज्यों में स्थानीय भाषा और अंग्रेज़ी का प्रयोग ही बड़ी मात्रा में होता देखा जाता है। ऐसे में देश की राजभाषा हिंदी का प्रयोग भी समय समय पर बच्चों को प्रभावित करता है क्योंकि हिंदी के माध्यम से ही वे पूरे देश से अपने को जुड़ा हुआ महसूस करते हैं। स्थानीय भाषा उनकी पहुंच अपने राज्य तक बनाती है और अंग्रेज़ी सीमित लोगों के एक वर्ग विशेष से। ऐसे में हिंदी की किताबें बच्चों के देशव्यापी संपर्क का बहुजन हिताय साधन बनती हैं।

पुस्तक श्रंखला को स्कूली बच्चों का बहुत अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। अहमदाबाद के चंद प्रतिष्ठित साहित्यकारों डॉ प्रणव भारती, श्रीमती मंजु महिमा भटनागर, श्रीमती सोसी मधु आदि ने भी "मंगल ग्रह के जुगनू" की व्यापक सराहना की और इसे बच्चों के लिए उपयोगी और मज़ेदार बताया।

हिमांशु जोनवाल


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें