मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 72, नवंबर(प्रथम), 2019

भूख प्यास की कहानी

डॉ गोरख प्रसाद मस्ताना

चल भूख प्यास की भी कहानी लिख दे सूखे अधर पे,दाना पानी लिख दे मैं जानता,दीनों को महल दे नहीं सकते मालिक! उन्हें एक अदद पलानी लिख दे जो तरस रहे मुठ्ठी भर धूप के लिए उनके लिए एक सुबह, सुहानी लिख दे हैं धृतराष्ट्र बनके, सत्ता में जो बैठे उनको महाभारत की कहानी लिख दे कुछ लोग रोशनी को दाब,घर में हैं बैठे उनके विरुद्ध, युद्ध तूफानी लिख दे अन्याय जोर जुल्म के खिलाफ जो खड़े साहस में उनके नई जवानी लिख दे

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें