Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 48, नवम्बर(प्रथम) , 2018



हाइकु


गुरुदेव प्रजापति


 
१)
नंगा आदमी हाथ कुल्हाडी लिए जंगल लुटे
२)
नंगी औरत धीरे धीरे निगले पुरा आदमी
३)
हाथ पकडे अंधेरेका,घरमें आता चंद्रमा
४)
जागते रहो देश बढ रहा है बलात्कार भी
५)
दंगे पे दंगे तलवारी चमक मजहब की

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें