मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 85, मई(द्वितीय), 2020

कोरोना

अविनाश तिवारी

डरो नही बरतो सावधानी करोना से हमें लड़ना है बार बार हम हाथ को धोवें मुंह ढककर हमें छींकना है। हो बीमार तो बाहर न जाएं चिकित्सा जांच जरूरी है पिएं गिलोय तुलसी मरीच का काढ़ा गन्दगी से रखना दूरी है। आओ हम प्राणायाम करें प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना है हाय हलो को छोड़कर नमस्कार अपनाना है। छोड़ें आलिंगन करें नमस्ते सलाम आदाब कर सकते हैं मिलजुलकर सारे भारतवासी करोना से लड़ सकते हैं।


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें