मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 3, अंक 60, मई(प्रथम), 2019

संगीत प्रधान व पारिवारिक फिल्में ही देना चाहता हूँ : संजय आर निषाद

मुकेश कुमार ऋषि वर्मा

एक उभरते हुए और युवा निर्देशक संजय आर निषाद से की गई बात चीत के कुछ अंश यहाँ प्रस्तुत हैं | संजय आर निषाद एक प्रतिभाशाली निर्देशक हैं | उनके द्वारा निर्देशित फिल्मों में अधिकांश नये चेहरे नजर आते हैं | साथ ही संगीत प्रधान व पारिवारिक फिल्में वे समाज को देना चाहते हैं |

सवाल :- संजयजी ! अपने बैकग्राउंड के बारे में कुछ बताईये?

जवाब :- जी बिल्कुल... मैं उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के अन्तर्गत आने वाले गांव जंगल गौरी नम्बर एक का मूल निवासी हूँ | गोरखपुर के श्री नेहरू इंटर कॉलेज - अमहिया से मैंने अपनी शिक्षादीक्षा पूर्ण की है और पिछले ग्यारह साल से मैं मुंबई में संघर्षरत हूँ | मैंने हिंदी व भोजपुरी इंडस्ट्री से सम्बन्धित कई नामचीन निर्देशकों के साथ काम किया है | आज जो कुछ भी पहचान है वो काफी संघर्ष के बाद मिली है | शूद्र अ लव स्टोरी मेरे कैरियर की अबतक की सबसे हिट फिल्म है, इसने मुझे एक नई पहचान दी है |

सवाल :- आपने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किये हैं, इस दौरान कभी आपके हौसले कमजोर नहीं पड़े थे?

जवाब :- जब मैं निर्देशक बनने के लिए संघर्ष करता था, तब यार-दोस्त, परिवार वाले, जान-पहचान वाले अक्सर मेरा मजाक उडाते, ताने मारते थे | पर कभी मेरे हौसले कमजोर नहीं पड़े, मैंने उन्हें कमजोर पडने भी नहीं दिया | मन में ठान लिया था कि एक न एक दिन अवश्य ही निर्देशक बन जाऊंगा | इस बीच आजीविका चलाने के लिए फिल्म जगत से अलग तरह-तरह के मजदूरी वाले काम किये | भई बाल-बच्चों को भी तो पालना था | आज मेरी फिल्म शूद्र अ लव स्टोरी रिलीज हो चुकी है, पहल रिलीज होने वाली है और हमार जान नदिया के पार की शूटिंग मेरे निर्देशन में जल्द शुरू होने वाली है |

सवाल :- फिल्में निर्देशित करने के पीछे आपका अपना स्वयं का क्या नजरिया है और आपकी आने वाली फिल्में कौन-कौन सी हैं | कुछ इस बारे में भी बताना चाहेंगे ?

जवाब :- हाँ... फिल्म निर्माण की दशा में मैं बहुत पहले बहुत बड़ा बदलाव लाना चाहता था और आज भी उसी में लगा हुआ हूं | निकट भविष्य में मेरी फिल्में बूढ़े, बच्चों, जवान, औरत, मर्द सभी को सिनेमाघरों तक खींच कर लायेंगी | एक खास बात यह है कि मैं कहानी, स्क्रिप्ट बगैरा लेखक के सामने बैठकर लिखवाता हूं | मैं हमेशा संगीत प्रधान और पारिवारिक फिल्में ही देना चाहता हूँ | रही बात मेरी आने वाली फिल्मों की तो वे हैं - हमार जान नदिया के पार और सिंध छैला इन दोनों ही फिल्मों में राहुल सिंह व रेशमा शेख की शानदार जोड़ी काम करेगी | दोनों ही फिल्मों का सब्जेक्ट एकदम सबसे हटकर है


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें