Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 32, मार्च(प्रथम), 2018



ख़ास बातें


कविता "किरण"



चलो!! 
आज कुछ अच्छी-अच्छी 
बातें करते हैं

वो बातें..
कि जिनको सोचकर
अकेले में मुस्कुराया जा सके
तन्हाई को महकाया जा सके
भरा जा सके
अपने ख़ालीपन को 

करते हैं कुछ ऐसी बातें
कि जो दे जाएँ 
एक मीठा सा 
ऐसा अहसास
जो ज़िन्दगी की सारी तल्ख़ियों को
समेट ले अपने आप में
बन जाए मुश्किल में 
एक प्यार भरी थपकी
और उदासी में 
अंकित कर दे माथे पर
एक तसल्ली की मुहर

चलो न! करते हैं आज कुछ 
दीवानों की सी हरकतें
कुछ पागलपन, 
बचकानापन!!

कि जिनको सोचकर
अचानक से आ जाये 
होंठों पर हंसी
राह चलते चलते....
और आस पास के लोग
हमें घूरने लगें 
देखने लगें शक़ की नज़र से

बातें तो बहुत होती हैं
दिल को दुखाने वालीं
जलानेवालीं
इधर की
उधर की
दुनियादारी की

चलो!!
आज करते हैं
कुछ ऐसी बातें 
कि जिनको सोचकर हम 
दूर होकर भी रहें पास पास
बनकर एक ख़ास
खुशनुमां एहसास
हमेशा!
हमेशा!!
हर वक़्त!!!
हर घड़ी!!!!
बातें
अच्छी अच्छी बातें
ख़ास बातें

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें