Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 32, मार्च(प्रथम), 2018



मान घटता है...


डा. दिनेश त्रिपाठी `शम्स’


      
मान घटता है प्यार जाता है ,
मांगने से मेयार जाता है |

प्यार करता है वो मुझे शायद ,
इसलिए मुझसे हार जाता है |

डूबने का न खौफ़ हो जिसको ,
बस वही शख़्स पार जाता है |

प्यार का सिर्फ़ इक हसीं लम्हा ,
ज़िन्दगी को संवार जाता है |

‘शम्स’ आता है वो शिफ़ा बनके ,
ताप मन का उतार जाता है |
  

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें