मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 3, अंक 57, मार्च(द्वितीय), 2019

*बच्चों आई होली*

डॉ. प्रमोद सोनवानी पुष्प

मस्ती में अब आई होली । आओ बच्चों नाचो - गाओ ।। इक - दूजे को रंग लगाकर । सच्चे मन से लगे लगाओ ।। भेदभाव तूम कभी न करना । सबसे हाथ मिलाते जाओ ।। प्रेम सभी से नित करना है । गीत यही तूम गाते जाओ ।। साथ - साथ अब कदम बढ़ाकर । प्यारे बच्चों चलते जाओ ।।


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें