Sahityasudha view

साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 41, जुलाई(द्वितीय), 2018



परिचय

उषा राजे सक्सेना

  
नाम: उषा राजे सक्सेना
जन्मः22 नवंबर 1943
स्थानः गोरखपुर, उत्तर प्रदेश, भारत
शिक्षाः स्नाकोत्तर- अंग्रेज़ी साहित्य- गोरखपुर विश्वविद्यालय- उत्तर प्रदेश, 
ई.एस.एल- लंदन- यू.के. ब्रिटेन में आगमनः 1967

2015 में विश्व हिंदी सम्मेलन भोपाल में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा 
विश्व में हिंदी के प्रचार- प्रसार के लिए सम्मानित प्रतिष्ठित कथाकार उषा 
राजे सक्सेना दशकों से, कहानियों के साथ-साथकविताओं, ग़ज़लो, निबंधों 
एवं समकालीन रपटों के लिए भी चर्चित हैं। उषा जी महज़ एक कहानीकार 
नहीं, प्रवासी साहित्य को उदात्त उँचाइयों तक ले जानेवाली एक आंदोलनकारी 
कार्यकर्ता हैं जिनमें अपने को रेशा-रेशा अभिव्यक्त करने की पारदर्शिता है 
लीक से हट कर.....वे एक ऐसी एक्सप्लोरर कहानीकार हैं जिन्हें पढ़ना दो 
संस्कृतियों के आपसी सामंजस्य के बाद की उदात्त मानवीय अनुभूति से 
आप्लावित होना है। उषा जी की रचनाओं का मूल स्त्रोत ब्रिटेन भूमि पर 
बसे भारतियों की विडंबनाओं और उनकी बदलती मानसिकताओं की 
अभिव्यक्ति है। यू.के की प्रसिद्ध हिंदी पत्रिका‘पुरवाई’की सह-संपादिका, 
यू.के हिंदी समिति की उपाध्यक्ष, ‘साउथ लंदन विमेंस गिल्ड ऑफ हिंदी 
राइटर्स’ की संस्थापक-संरक्षक उषाराजे सक्सेना यू.के में होनेवाले लगभग 
सभी राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय साहित्यिक कार्यक्रमों की धूरी रही हैं। 
आपकी कविताएँ ओसाका विश्वविद्यालय- जापान के पाठ्यक्रम में सम्मिलित हैं। 
पुस्तक ‘मिट्टी की सुगंध’,एवं ‘वाकिंग पार्टनर’ पर कुरुक्षेत्र और महिर्षि 
दयानंद विश्वविद्यलय- रोहतक के छात्रों ने एम.फिल किया। कहानी ‘वह रात’ 
मेरठ के ‘चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय’ और कहानी संग्रह ‘वह रात और 
अन्य कहानियाँ’ महिर्षि दयानंद विश्वविद्यालय- रोहतक के पाठ्यक्रम में सम्मिलित 
है। आपकी  कहानियों का अनुवाद पंजाबी, गुजराती, तमिल और अँग्रेज़ी में हो चुकी 
है। प्रसिद्ध गायिका मिथिलेश तिवारी ने आपकी ग़ज़लों को धुन में बाँध कर, 
‘कोई संदेसा न आया’के नाम से सी.डी को दिल्ली के अक्षरम संस्था के कार्यक्रम 
में लॉच किया।   
सम्मान एवं पुरस्कारःकहानी ‘विरासत’ युवा लेखन पुरस्कार-1962, ‘नॉट सो साइलेंट’- 
1995यू.के लब्द्धप्रतिष्ठित महिला सम्मान।
‘विदेशों में हिंदी साहित्य-सेवा- प्रचारप्रसार सम्मान’ उत्तर-प्रदेश, हिंदी-संस्थान- 
लखनऊ-2004, बाबू गुलाब राय-पुरस्कार, ताज-महोत्सव- आगरा, ‘डॉ. हरिवंश राय 
बच्चन पुरस्कार’- भारतीय उच्चायोग- लंदन. चेतना साहित्य परिषद सम्मान- लखनऊ, 
एवं महिला लेखिका संघ- लखनऊ, बरेली, भोपाल, एवं अन्य…
प्रकाशित कृतियाः1.‘इंद्रधनुष की तलाश में’ ( कविता संग्रह, रस वर्षा सम्मान- बनारस)- 
2.‘विश्वास की रजत सीपियाँ’(कविता संग्रह) 3.‘क्या फिर वही होगा’- (कविता संग्रह)
4. ‘प्रवास में’, (कहानी संग्रह) 5.‘वाकिंग पार्टनर’ (कहानी संग्रह- पद्मानंद साहित्य 
सम्मान-कथा यू.के.)6.‘वह रात और अन्य कहानियाँ-’कहानी संग्रह, 7.‘ब्रिटेन में हिंदी’- 
(प्रवासी सम्मान-मध्यप्रदेश।)8.मिट्टी की सुगंध- कहानी संग्रह, संपादन।9.‘देशांतर’ 
काव्य संग्रह- संपादन. 10. Deepak the Basket man- Children’s 
Book 4 Pt,तथा 11.Translation of borough of Merton’s Syllabus
कहानी ‘क्लिक’ का टैली-फिल्म, मुंबई दूरदर्शन,इंडियन क्लैसिकल श्रंखला में सम्मिलित। 
संप्रतिः शिक्षक अवकाशप्राप्त, स्वतंत्र-लेखन। 
संपर्क-
54. Hill Road, Mitcham, Surrey.
CR4 2HQ. UK
ई-मेलःusharajesaxena@gmail.com
दूरभाषः 00 44 208 640 8328	
मोबाइलः 00 44 7871582399
भारत:00 91 9960260771



कृपया अपनी प्रतिक्रिया sahityasudha2016@gmail.com पर भेजें