मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 3, अंक 64, जुलाई(प्रथम), 2019

संतुलित भोजन

पुष्पा जोशी 'प्राकाम्य'

कहते किसे संतुलित भोजन? बच्चो! जरा बताओ तो। अगर जानना चाहो तुम सब, तो फिर आगे आओ तो। वसा,विटामिन,कार्बोहाइड्रेट, खनिज-लवण,प्रोटीन सब, मिलकर भोजन पूर्ण बनाते, संतुलित हो जाता है तब। विटामिन्स लड़ें रोगों से, कार्बोहाइड्रेट शक्ति दे। वसा है देता ऊर्जा, प्रोटीन तन की वृद्धि दे। खून बढाएं खनिज-लवण, और हमें तंदरुस्ती दें। पाँचों तत्व मिलें भोजन में, फुर्ती के संग चुस्ती दें। ये भी जाने आओ हम सब, कहाँ से सारे तत्व मिलें। वीटामिन्स फलों से मिलते, दालों से प्रोटीन मिलें। कार्बोहाइड्रेट देता चावल, हरी सब्जियाँ खनिज-लवण। घी और तेल वसा देते हैं, और बनाते हमें सबल। मिल नहीं पाते जिन्हें तत्व ये, रहते वे बच्चे हैं सुस्त। संतुलित भोजन खाने से ही, बच्चे रहते हैं तंदरुस्त।


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें