मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 77, जनवरी(द्वितीय), 2020

राजस्थान के श्रीनाथ द्वारा में शशांक मिश्र भारती सम्मानित

हिन्दी पुरोधा राष्ट्र भाषा सेनानी साहित्यवाचस्पति श्री भगवती प्रसाद जी देवपुपुरा स्मृति समारोह तीन दिवसीय के अवसर पर तीसरे दिन राष्ट्रीय बालसाहित्य समिरोह के अवसर साहित्यकार शिक्षक व संपादक शशांक मिश्र भारती को साहित्यमंडल परिवार श्री नाथद्वारा राजस्थान द्वारा श्री भगवती प्रसाद देवपुरा बालसाहित्य भूषण से सम्मानित किया गया ।इस सम्मान के अन्तर्गत शाल उत्तरीय मोतियों की माला श्री नाथ जी का प्रसाद उनकी लेखनी श्रीफल उन्हीं की बड़ा फ्रेम उपाधि पत्र व मेवाड़ी पकड़ी पहनायी गयी।उपाधि पत्र संस्थाध्यक्ष नरसिंह ठाकुर व प्रधानमंत्री श्याम प्रकाश देवपुरा के द्वारा मिला।इस सम्मान से देश भर के पांच दर्जन से अधिक बालसाहित्यकार बालसाहित्य लेखन संवर्धन के लिए अलंकृत किये गये । जिनमें सर्व श्री लक्ष्मीशंकर पाण्डेय डा. रामनिवास मानव हूंदराज बलवानी किशोर श्रीवास्तव महावीर रवाल्टा संजीव वर्मा सलिल नीरज शास्त्री डा. विमला भण्डारी डा. भैंरोलाल गर्ग डा. दिनेश पाठक शशि डा0 देशबन्धु शाहजहांपुरी डा. कीर्ति श्रीवास्तव अब्दंलसमद राह डा. आर.पी. शर्मा प्रमुख थे

आठ जनवरी को इस सम्मान से पहले शहीदों की नगरी शाहजहापुर के बड़ागांव निवासी श्री मिश्र को देश भर से एक सौ के लगभग सम्मान मिल चुके हैं ।अनेक राष्ट्रीय अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के आयोजनों में कविता पाठ पत्र शोधपत्र वाचन किया है ।१९९७ में प्रतापशोभा त्रैमासिक के बालसाहित्यांक के अतिथि संपादन के अलावा बालसाहित्य पर हमबच्चे बिना विचारे का फल क्यों बोलते हैं बच्चे झूठ मुखिया का चुनाव स्कूल का दादा आओ मिलकर गाएं पुस्तकें छप चुकी हैं ।मुखिया का चुनाव उड़िया में भी आचुकी हैं ।कन्नड़ तेलुगु संथाली में भी कुछ रचनाओं का अनुवाद हुआ है । वर्तमान में यह उत्तराखण्ड के राजकीय इण्टर कालेज में प्रवक्ता संस्कृत के पद पर कार्यरत हैं और वहीं से अपनी साहित्य साधना में लगे हैं।देवपुत्र पत्रिका का विशेषांक रूप में संपादन करते हैं।

इनको इस सम्मान पर प्रेरणा परिवार के विजय तन्हा नवयुवक रामलीलीकमेटी की प्रतिभा अग्रवाल शबरी शिक्षा के श्रीधर डा.जुगुल किशोर सारंगी संजय भारद्वाज विजय सिंघल जयविजय राजेश पाण्डेय सुरजीत सिंह राना पान सिंह मेहता रवि बगोटी आदि अनेक साहित्यकारों शिक्षकों समाज सेवियों आदि ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए शुभकामनाएं दी है ।

प्रस्तुति:
कु0 एकांशी
हिन्दी सदन
बड़ागांव
शाहजहांपुर
उत्तर प्रदेश


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें