साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 76, जनवरी(प्रथम), 2020

परिचय

अंबूजा एन मलखेडकर ' सुवना '

नाम: अंबूजा एन मलखेडकर ' सुवना ' जन्म : 16 नवंबर 1976 शिक्षा : एम,ए, पी एच डी (हिंदी) अध्यापन रूची : सन 2001 से विभिन्न महाविद्यालयों में अध्यापन और विभिन्न राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में सहभागिता और आलेख वाचन। संप्रति: गुलबर्गा में प्राइवेट कॉलेज में हिंदी प्राध्यापिका के रूप में कार्यरत विशेष : गुलबर्गा आकाशवाणी में विभिन्न विषयों पर वाचन,गुलबर्गा दूरदर्शन मे कृषि समाचार वाचिका, पार्शस्वर, अनुवादक के रूप में सेवा की है। स्थानीय चैनल मे समाचार वाचिका के रूप में सेवा की है। * ऑनलाइन रेडियो बोल हरियाणा से 16/ 11 /2017 में लघु कथा 'काल्पनिक सुख' प्रसारित * सम्मान: * तमिलनाडु हिंदी साहित्य अकादमी द्वारा जनवरी 2014 में समय प्रबंधन गुणवत्ता व साहित्य सेवी पुरस्कार। * हिंदी अकादमी द्वारा 2015 में आयोजित राष्ट्रीय हिंदी विकास सम्मेलन में समग्र लेखन तथा साहित्य धर्मिता के लिए डॉ. महाराज कृष्ण जैन स्मृति सम्मान। * गुलबर्गा विश्वविद्यालय कलबुर्गी द्वारा 8/11/ 2017 को 2016 में प्रकाशित पुस्तक 'पिरामिड' पुस्तक को कर्नाटक राज्योत्सव सम्मान और 5,000 नकद। * आचार्य रतनलाल विद्यानुग स्मृति अखिल भारतीय 'विशिष्ट साहित्यकार' सम्मान और दो हजार नकद। * हिमाक्षरा राष्ट्रीय साहित्य परिषद द्वारा 29 जनवरी 2016 मे 'डॉ ए पी जी अब्दुल कलाम एक्सीलेंस इन एजुकेशन'अवॉर्ड । *आध्यात्मिक साहित्यिक संस्था काव्यधारा रामापुर द्वारा 2017 में 'सारस्वत' और 'काव्य संचेतना' सामान। * समकालीन महिला साहित्य मंच मेरठ द्वारा 9/3/2019 'सरस्वती श्री' सम्मान। * सुप्रभात मंच नई दिल्ली द्वारा 'पिरामिड सम्राट'( 2019) प्रकाशन : सम्मान विविध पत्र-पत्रिकाओं में कविता, कहानियां प्रकाशित। प्रकाशित पुस्तकें : हाइकु संग्रह (2016), पिरामिड संग्रह (2016) ,दासश्रेष्ठ पुरंदर दास नाटक( 2018) पुष्प फल कविता संग्रह 2019, आनंद पथ लघुकथा संग्रह 2019, मन के धूप छांव (क्षणिकाएं )2019 ऑनलाइन पुस्तक संपर्क सूत्र : विश्वराध्य कॉलोनी आलंद रोड कलबुर्गी 585101 कर्नाटक मोबाइल नंबर: 9740477909 ईमेल:suman.malkhed@rediffmail.com