मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 76, जनवरी(प्रथम), 2020

आपसी नर्वस ब्रेकडाउन

राजीव कुमार

पिता के नर्वस ब्रेकडाउन में चले जाने के बाद तीनों बच्चे एक दुसरे पर दोषारोपण करने लगे। सुरेश ने नरेश से कहा ’’ तुम्हारे चलते ही पिता जी इस हालत में हैं। ’’ नरेश ने सुरेश से कहा ’’ दिनेश इस बात का जिम्मेदार है।’’ बोलकर तीनों बच्चे अपने-आप में लड़ने लगे। फागुन प्रसाद जो पुरी तरह से कोमा में नहीं गए थे, बस एक जगह बैठकर एकटक निहारते रहते थे, उन्होंने कहा ’’ लड़ो-झगड़ो मत। ’’ तीनों बच्चे रूक गए, आपस में बोलने लगे ’’ आज इतने दिनों के बाद पिताजी की आवाज निकली है, और लड़ो-झगड़ा मत बोलते ही उनकी ये हालत हुई थी, उनकी आवाज चली गई थी। ’’ फागुन प्रसाद के तीनों बेटों ने कसम खाई आपस में कभी झगड़ा नहीं करेंगे। अंततः फागुन प्रसाद धीरे-धीरे ठीक होते गए।


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें