मुखपृष्ठ
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
Sahityasudha
वर्ष: 4, अंक 78, फरवरी(प्रथम), 2020

संत शिशुनाल शरीफ

डॉ अंबूजा एन मलखेडकर ' सुवना '

संत कवि शिशुनाल शरीफ सर्वधर्म के संवाहक, हिन्दू मुस्लिम समता के वे धवल स्फूर्ति से नायक । उत्तर भारत के कबीर थे नैतिकता के उजियारे, कन्नड़ उर्दू और मराठी में उनके अनुभव सारे । भक्ति, ज्ञान, रीत- नीति के गीत गाये संदेश दिया, शोषण अनीति अंधश्रद्धा से जन मानस को दूर किया। मैत्री प्रेम भ्रातत्व बढ़ाया जन- जन को जागृत किया, लावणी पद के आत्मज्ञान से लोकहित को संतृप्त किया।


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें