Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 54, फरवरी(प्रथम) , 2019



हम बच्चे


सुशील शर्मा


 
हम सभी प्यारे से बच्चे, 
नहीं अक्ल के हैं हम कच्चे। 
हम में न अभिमान है ,
न मान है सम्मान है। 
न जात है न पांत है 
ख़ुशी की बरसात है। 
न सुख है न दुःख है ,
प्रेम ही प्रमुख है। 

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें