Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 35, अप्रैल(द्वितीय), 2018



चलो मंगल ग्रह में


डॉ.प्रमोद सोनवानी पुष्प


 
हम भी भेज दिये हैं बच्चों ,
मंगल ग्रह को यह संदेश ।
सकल जहां से कम नहीं है ,
अपना प्यारा भारत देश ।।1।।

मंगल ग्रह के राजा को हम ,
देश का हाल सुनायेंगे ।
देश बढ़ेगा कैसे आगे ,
सबक सीख यह आयेंगे ।।2।।

मंगल वाले दुनियाँ का सच ,
चहुँ ओर बगरायेंगे ।
चलो-चलें जी मंगल ग्रह में ,
हम सबको समझायेंगे ।।3।।

यहाँ बढ़ रही है जनसंख्या ,
चलो वहाँ सब जायेंगे ।
मंगल ग्रह की नगरी में हम ,
गीत ख़ुशी के गायेंगे ।।4।।

  

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें