Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 25, नवम्बर(द्वितीय), 2017



तुम जो मेरे साथ नहीं हो!


डॉ० अनिल चड्डा


 
उत्तम कृति
मैं रच न पाऊँ
तुम जो मेरे साथ नहीं हो!
जीवन की राह पे
चल न पाऊँ
तुम जो मेरे साथ नहीं हो!

मन की दुविधा
समझ न आये
रोज-रोज 
नये रंग दिखाये
दुनिया के रंग 
मैं समझ न पाऊँ
तुम जो मेरे साथ नहीं हो!

पत्थर राह के
बहुत हैं चुभते
पग-पग पर
कांटे हैं दिखते
छाले भी सहला न पाऊँ
तुम जो मेरे साथ नहीं हो!

कौन पुकारे
मुझको सजना
कौन कहे
मुझको अब अपना
प्रेम के बोल मैं सुन न पाऊँ
तुम जो मेरे साथ नही हो!

कृपया अपनी प्रतिक्रिया sahityasudha2016@gmail.com पर भेजें