Sahityasudha

साहित्यकारों की वेबपत्रिका

साहित्य की रचनास्थली

यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को
डाउनलोड करने के लिये इस लिंक ↓पर क्लिक करें।


"साहित्यसुधा" की एप्प डाउनलोड करने के लिए इस लिंक ↓ पर क्लिक करें ।

रचनाकारों से निवेदन है कि अपनी रचनाएँ माइक्रोसॉफ़्ट वर्ड में टाइप करके अलग से अपनी मेल के साथ संलग्न करें।

वर्ष: 4, अंक 88, जुलाई(प्रथम), 2020

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुनर्प्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं। सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्यसुधा में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्यसुधा टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है। साहित्यसुधा एक सम्पूर्णतः साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य सभी रचनाकारों को प्रोत्साहित करके हिंदी को बढ़ावा देना है | इसके माध्यम से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा।

साहित्यसुधा

संपादकीय मंडल:-

संपादक - डॉ०अनिल चड्डा 

सह-संपादक - अखिल भंडारी  Akhil Bhandari

साहित्यिक समाचार



भोजपाल साहित्य संस्थान की डिजिटल गोष्ठी संपन्न

लाॅकडाऊन में साहित्यिक गतिविधियों को निरंतर जारी रखते हुये भोजपाल साहित्य संस्थान भोपाल ने माह मई में सदस्यों की डिजिटल गोष्ठी का सफलता पूवर्क आयोजन किया । जिसमे तय शेडयूल अनुसार प्रतिदिन दो रचनाकारों की रचनाओं के वीडियो पोस्ट किये गये थे। जिस पर सदस्यों द्वारा राय रखी गयी । इसी कडी़ को आगे बढा़ते हुये अगले डिजिटल कार्यक्रम के रूप में सदस्यों की प्रथम रचना का डिजिटल कार्यक्रम ..............पूरा पढ़ें






'उच्च शिक्षा और भारतीय भाषाएँ' पर अंतरराष्ट्रीय वेबिनार संपन्न

भारत सरकार ने उच्च शिक्षा पाठ्यक्रमों में क्षेत्रीय भाषाओं को बढ़ावा देने के लिए विश्वविद्यालय के स्तर की पाठ्य सामग्री को आठवीं अनुसूची में उल्लिखित 22 भाषाओं में अनुवाद करने तथा प्रकाशित करने की योजना बनाई है। प्रकाशन के लिए अनुदान भी प्रदान किया जा रहा है। भारत के पास सुनिश्चित भाषा नीति नहीं है। इसीलिए भाषा नीति तैयार करने और उसे क्रियान्वित करने के लिए मैसूर ..............पूरा पढ़ें






डाक विभाग के अधिकारियों ने भी घर पर परिवार के साथ मनाया 'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस'


'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस' पर डाक विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने घर पर रहकर योग दिवस मनाया। कोरोना महामारी के चलते इस वर्ष भारत सरकार ने लोगों से घर पर रहकर परिवार के साथ 21 जून को योग दिवस मनाने की अपील की थी। इसी क्रम में पोस्टल ऑफिसर्स कॉलोनी, अलीगंज स्थित अपने आवास पर लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ..............पूरा पढ़ें






साहित्य संगम संस्थान इकाई उत्तर प्रदेश अध्यक्ष के द्वारा पुस्तक अंधविश्वास विशेषांक का विमोचन


नवीन कुमार भट्ट नीर ने बताया कि साहित्य संगम संस्थान दिल्ली द्वारा आज दिनांक 23/06/2020 मंगलवार को गूगल मीट वेब के माध्यम से एकल दैनिक सृजन आधारित अंधविश्वास विशेषांक का विमोचन साहित्य संगम संस्थान समिति उत्तर प्रदेश के प्रांतीय अध्यक्ष रविशंकर विद्यार्थी जी के कर कमलों से विमोचन किया गया।ज्ञातव्य हो कि यह कार्यक्रम गूगल मीट ऐप के ..............पूरा पढ़ें






डॉ अन्नपूर्णा भदौरिया श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान 2019 से सम्मानित हुए राजीव डोगरा 'विमल'

कांगड़ा के युवा कवि राजीव डोगरा 'विमल' को साहित्य एक्सप्रेस तथा आदित्य संस्कृत पत्रिका ने डॉ अन्नपूर्णा भदौरिया श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान 2019 से सम्मानित किया।उनको यह सम्मान उनकी साहित्य सेवाओं के लिए सम्पादक भानु शर्मा के द्वारा दिया गया।सम्मान मिलने पर उनके पिता हंसराज माता सरोज कुमारी और बड़े भाई पीएचडी शोधकर्ता अमित ..............पूरा पढ़ें






'भारतीय संस्कृति और आदिवासी साहित्य का महत्व' विषयक नेशनल सेमिनार आयोजित


सरकारी महिला महाविद्यालय, बेगमपेट, उस्मानिया यूनिवर्सिटी, गवर्नमेंट ऑफ तेलंगाना और सरकारी महाविद्यालय, करनाल, हरियाणा के संयुक्त तत्वावधान में 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' योजना के अंतर्गत 'भारतीय संस्कृति और आदिवासी साहित्य का महत्व' विषय पर एक दिवसीय नेशनल सेमिनार (वेबिनार) का बुधवार को ऑनलाइन आयोजन किया गया। डा. जी.यादगिरी, ज्वाइंट डायरेक्टर काॅलेजिएट एजुकेशन एंड प्रिंसिपल, गवर्नमेंट ऑफ तेलंगाना ने इस ..............पूरा पढ़ें






वायरस कोरोना आया है के
लिए शशांक को सम्मान


कल सोशल मीडिया पर आयोजित आनलाइन पुस्तक लोकार्पण व सम्मान समारोह मेंदेश विदेश के169 रचनाकारों के साथ साथ शिक्षक संपादक व साहित्यकार शशांक मिश्र भारती को स्वच्छ भारत निर्माण परिषद जयपुर द्वारा सेवा योद्धा ,आईसीटीएम मीडिया समूह हरियाणा द्वारा कोरोना योद्धा ,ज्ञानोदय साहित्य संस्था कर्नाटक द्वारा ज्ञानोदय प्रतिभा सम्मान 2020 व ..............पूरा पढ़ें


समपादक की और से

“कोरोना ये तूने क्या”
जीना मुश्किल होता जा रहा है, साँस भी घुट-घुट के आ रहा है। जानवर को मिल जाता ऐशो-आराम, इंसा कूड़े से चुन के खा रहा है। बस गईं चारों ओर घनी बस्तियाँ, तन्हा खुद को हर कोई पा रहा है। साफ़गोई तो उन्हे मंजूर न थी, पाठ झूठ का वो सिखला रहा है। एहसानात चंद मुझपे क्या कर दिये, बेवजह अब जुल्म ढा रहा है। उदासी पहले ही कुछ कम न थी, गीत दर्द के क्यों वो गा रहा है। - डॉ० अनिल चड्डा

अब तक

आपके पत्र



"छाती पर भार लिए बैठा हूँ।" डॉ चड्ढा की बेहतरीन,यथार्थ परक रचना है।"भरे बाजार में बिकने के लिये, मैं अपने संस्कार लिये बैठा हूँ।" दोनों स्थितियां स्पष्ट होती हैं-इस बाजार-युग में हमने संस्कार भी बेच दिए हैं।यह भी की बाज़ार वाद में भी हम अपने संस्कार सुरक्षित रखने में सफल हुए है।अब "जिसकी रही भावना जैसी" वैसा अर्थ ग्रहण कर सकेगा। "वो चाहें जितना भी दगा कर लें, मैं तो दिल में प्यार लिये बैठा हूँ।" बहुत सुंदर सन्देश है।साहित्य का उद्देश्य भी यही है।यही सत्यं शिवम सुंदरम की स्थिति है।बधाई हो चड्ढा जी को।

- डॉ आर बी भण्डारकर
भोपाल


सुंदर अंक सब रंग विधा का। साहित्य की बहुमुखी प्रतिभाओं का विस्तृत कैनवास ।

सादर
- विश्वमोहन

आभार, इतनी बेहतरीन पत्रिका का।

सप्रेम एवं सादर ,
विश्वमोहन

adarneey anil ji

the magazine is at its best presentation with all the sinf of write ups. Har sahityakaar is manch par apni ek pehchaan bana raha hai.

with my very best wishes.

Devi Nangrani

Kamal Tamrakar

बहुत ही सुन्दर और लाजवाब
साहित्य सुधा परिवार के समस्त जन को साधुवाद

मान्यवर सम्पादक जी

सर्वप्रथम ह्रदय से आभार पत्रिका का लिंक भेजने के लिए | कुछ कवितायें पढ़ी जैसे आपके द्वारा रचित "कुछ तुम भूलो,कुछ वो भूलें "बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति है , शुची भावी जी की "ये कैसा बचपन "और अरुण कुमार प्रसाद जी की "आज अचानक जीवन मेरा हो उठा हाय !पराया रे" वर्षा वार्ष्णेय जी की " औरत सिर्फ औरत ही रह गयी |"

सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई |सभी की लेखनी को बल मिले |

धन्यवाद

सविता अग्रवाल "सवि "(कैनेडा)

नमस्कार चड्डा साहब

दिन प्रतिदिन, साल दर साल सफलता के नए कीर्तिमान गढ़ रहा हम सबका सहित्यसुधा। एक से बढ़कर एक रचना पढ़ने को मिलती है। साहित्य सुधा न केवल नवांकुरों का गर्मजोशी से स्वागत करता है बल्कि उनकी रचनाओं को भी यहाँ उचित स्थान दी जाती है। सभी रचनाकारों को मेरी ओर से बधाई शुभकामनाएँ।

रश्मि सुमन
साइको काउंसलर
पटना सिटी
पटना 800008
बिहार

इस अंक में



1.अजय एहसास -

(i)अग्रदूत
(ii)आओ हम मिलकर योग करें

2.अमित डोगरा -

(i)अभी नही देखा

3.डॉ० अनिल चड्डा -

(i)खुद ही सो जाना है

4.अनिल कुमार -

(i)मैं बाजार हूँ

5.अंजू अग्रवाल"अंजुल" -

(i)योग

6.अरुण कुमार प्रसाद -

(i)कविता 'गाँव' का
 अगला भाग[गतांक से आगे]


7.आशुतोष कुमार -

(i)ललकार

8.अविनाश तिवारी -

(i)लाकडाउन
(ii)आत्महत्या एक अभिशाप
(iii)पिता

9.बिपिन कुमार चौधरी -

(i)कविता का स्वरूप
(ii)फेसबुकिया_दान_रहस्य

10.डॉ दिग्विजय शर्मा "द्रोण" -

(i)समानता
(ii)सिमटा जमाना

11.दिव्याशा यायावर" -

(i)स्त्री अस्तित्व

12.गोपाल कृष्ण पटेल -

(i)हे श्रम वीरों तुम्हें मेरा नमन
(ii)प्रकृति

13.हंस राज ठाकुर -

(i)खुदा गवाह है
(ii)मत भूलना इस सीख को
(iii)बयार

14.हरदीप सभरवाल -

(i)खौफ
(ii)लॉकडाउन के बाद



25.राखी पटेल -

(i)मैं बेटी वरदान हूँ
(ii)मिलकर कोरोना को हराना है

26.रामदयाल रोहज -

(i)थार का सैनिक
(ii)नाचे बिजली गाते घन

27.राम निवास मीना -

(i)प्रेरणा
(ii)मिलन

28.डॉ. रानू मुखर्जी -

(i)मार्ग दर्शक कबीर
(ii)छाँव

29.रेखा पारंगी -

(i)बेटी का दर्द
(ii)बदनसीब बचपन
(iii)पिता

30.संपूर्णानंद मिश्र -

(i)बचाती है विध्वंस से

31.डॉ०संतोष गौड़ राष्ट्रप्रेमी -

(i)हर युग में, मैं छली गई
(ii)पूरण करती, नर को नारी
(iii)तेरी चाहत दूरी है

32.शैलेश शुक्ला -

(i)औज़ार करें पुकार

33.सुनील चौरसिया'सावन' -

(i)जीवन में रस घोले हिन्दी

34.सुनील पोरवाल "शेलु" -

(i)पिता : जीवन का आधार

35.सुरेंद्र सैनी बुवानीवाल -

(i)बस क्या
(ii)चीन का जवाब कौन देगा....
(iii)बात गुजर जाए..

36.स्वर्णलता 'विश्वफूल' -

(i)गरीब कुम्हार की बेटी
(ii)अशब्द माने क्या ?
(iii)स्त्री-विमर्श

37.वीरेंद्र कौशल -

(i)वर्ष दो हज़ार बीस ......
(ii)एक तीर से ....कई शिकार ....

गीत, गज़ल, इत्यादि

आलेख, कहानियाँ, व्यंग्य, इत्यादि

आलेख

1.डॉ० घनश्याम बादल -

(i)मनु: जो मानी नहीं मर मिटी
(ii)योग : संक्रमण काल का
 उपयोगी रामबाण


2.गोपाल कृष्ण पटेल -

(i)नशे का ऐसा चला रिवाज,
 हुआ प्रदूषित पूरा समाज


3.डॉ. मनोहर अभय -

(i)नवगीत : आधुनिकता की चुनौतियाँ

4.नीरज कुमार आज़ाद -

(i)कोविद-19 बनाम वैश्विक
 मुद्दा - एक अवलोकन


5. पवनेष ठकुराठी ‘पवन’ -

(i)लोकगायक हीरा सिंह राणा

6. डॉ० पूनम गुप्ता -

(i)परिवर्तित जीवनशैली
 ही जीवन का पर्याय


7. डॉ० रचना सिंह"रश्मि" -

(i)विकास का आधार स्तंभ
 प्रवासी श्रमिकों का पलायन


8. रश्मि सुमन -

(i)जीवन खोना समाधान नहीं है ...

9. डॉ. सदानंद पॉल -

(i)चीन और नेपाल से रिश्ते
 पर पुनर्विचार की जरूरत

(ii)आज कितनी माताएँ
 और बहनें रानी झाँसी
 'लक्ष्मीबाई' के सुकृत्य
 और बलिदान को प्रेरणा
 मानती हैं !

(iii)टिड्डियों के उत्पात से
 किसान परेशान


10. सलिल सरोज -

(i)सुशांत ,आखिर क्यों ,सुशांत !
(ii)विरह आग तन में लगी,
 जरन लगे सब गात,
 नारी छूवत वैद्य के,
 परे फफोला हाथ॥

(iii)प्रेम करने से पहले
 प्रेम को पढ़िए भी


11. उत्तम सिंह ठाकुर -

(i)हम शिक्षित क्यों नहीं
 हो पा रहे हैं ?


पुस्तक समीक्षा





धारावाहिक उपन्यास


1.प्रबोध गोविल -

(i)राय साहब की चौथी बेटी [भाग-10]

संस्मरण


1.अशोक वाधवाणी -

(i)प्रांजल की प्रेरणा

अनूदित साहित्य


1. डॉ.रजनीकान्त एस.शाह -

(i) पद्मश्री डॉ. गुणवंतभाई शाह
 के लेख "कोरोना वाइरस और
 ऊब का लव अफेयर!"
 का हिन्दी अनुवाद

(ii) वीनेश अंतानी के लेख "किसी
 चमत्कार की आशापूर्ण प्रतीक्षा में"
 का हिन्दी अनुवाद

(iii) राजभास्कर के व्यंग
 "हम गुजरात कभउ नहीं आयेंगे....!"
 का हिन्दी अनुवाद


डायरी


1.डॉ० आर बी भण्डारकर -

(i)फिर याद तुम्हारी आयी है

पुस्तकें


1.महावीर उत्तरांचली -

(i)रामभक्त शिव
(ii)उत्तरांचली के आलेख - संसमरण

साक्षात्कार


1.डॉ जयश्री शर्मा -

(i)डॉ जयश्री शर्मा, संपादक "अनुकृति"
 की प्रबोध कुमार गोविल
 से बातचीत


कृपया अपनी रचनाएँ,जो मौलिक होनी चाहिए और यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हों, निम्नलिखित
ई-मेल पर भेजें :-

sahityasudha2016@gmail.com
[यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें]

गोपनीयता नीति

"साहित्यसुधा को सब्सक्राइब करें"

सहित्यसुधा की सूचना पाने के लिये कृपया अपना ई-मेल पता भेजें