Sahityasudha view

साहित्यसुधा


साहित्यकारों की वेबपत्रिका

साहित्य की रचनास्थली


वर्ष: 3, अंक 49, नवम्बर(द्वितीय), 2018

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुनर्प्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्यसुधा में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्यसुधा टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।

साहित्यसुधा एक सम्पूर्णतः साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य सभी रचनाकारों को प्रोत्साहित करके हिंदी को बढ़ावा  देना है | इसके माध्यम से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा। साहित्यसुधा

सम्पादकीय मंडल:-
सम्पादक - डॉ०अनिल चड्डा
सह-सम्पादक - अखिल भंडारी


साहित्यिक समाचार
श्री विनोद बब्बर को सौहार्द सम्मान


गत दिवस लखनऊ में आयोजित समारोह में उ.प्र. विधानसभा के अध्यक्ष श्री हृदय नारायण दीक्षित और उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष.....

....पूरा पढ़ें



"प्रमोद सोनवानी को साहित्य भूषण सम्मान"


तमनार:- हिन्दी बाल साहित्य में अमूल्य योगदान के लिये तमनार , पड़िगाँव के "श्री फूलेंद्र साहित्य निकेतन" निवासी ख्यातिलब्ध बाल साहित्यकार प्रमोद सोनवानी "पुष्प" को "साहित्य भूषण सम्मान - 2018" से अलंकृत किया जायेगा ।.....

....पूरा पढ़ें



सूचना
हिन्दी चेतना लघुकथा -प्रतियोगिता



1-हिन्दी चेतना द्वारा लघुकथा -प्रतियोगिता के लिए अप्रकाशित और अप्रसारित ( ब्लॉग/ वेब/ वाट्स एप आदि पर भी प्रसारित न हों ) अधिकतम दो लघुकथाएँ 10 दिसम्बर 2018 तक आमंत्रित हैं.रचनाएँ इस मेल पर भेजी जाएँ -shiamtripathi@gmail.com.....

....पूरा पढ़ें



किरण सिंह को विजय वर्मा कथा सम्मान तथा सुमीता प्रवीण केशवा को हेमंत स्मृति कविता सम्मान


हेमंत फाउंडेशन द्वारा प्रदान किए जाने वाले पुरस्कारों के अंतर्गत 20वाँ विजय वर्मा कथा सम्मान लखनऊ की किरण सिंह को उनके कहानी संग्रह "यीशू की कीलें" के लिए देने का निर्णय पुरस्कार के सम्माननीय निर्णायकों द्वारा लिया गया। इस संग्रह की सभी कहानियाँ अपने वर्तमान समय से टकराती हैं......

....पूरा पढ़ें


जानें अपनी प्रसन्नता को कैसे बढायें -
पढ़ें डॉ० अशकान फरहादी द्वारा रचित एवँ डॉ० अनिल चड्डा एवँ अन्य द्वारा अनुवादित पुस्तक का 11वाँ भाग
"प्रसन्नता का विकास"


क्या हमें अपने सपनों का अनुपालन करना चाहिये ?
सम्पादक की ओर से
"आँखों को हँसते रहना चाहिए"
कुछ तो करते रहना चाहिए,
जीने को मरते रहना चाहिए।

समय बहुत खराब है यारों,
खुदा याद करते रहना चाहिए।

बुरे वक्त में साथ चले न कोई,
अकेले चलते रहना चाहिए। 

पलक झपकते बदल जाते हैं सब,
धोखे सहते  रहना चाहिए।

आंसुओं से दिल को भिगो लो चाहे,
आँखों को हँसते रहना चाहिए।   
     - डॉ० अनिल चड्डा
अब तक.......


कविता  |  कहानी  |  लघु-कथा  |  आलेख  |   व्यंग्य  | गीत अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  लेखक परिचय  | 
ग़ज़लें   | हाइकु   |  हिन्दी ब्लॉग  |  दोहे | नज़्में  | पुस्तक समीक्षा  |पुराने अंक| हास्य-कविता |
बच्चों का कोना|

आपके पत्र


opkshatriya@gmail.com

हर बार की तरह सामग्री संचयन और सयोजन की दृष्टि से बहुत बढ़िया अंक बना है. मेरी हार्दिक बधाई पत्रिका की पूरी टीम को.

shashank misra [shashank.misra73@rediffmail.com]

नया अंक पढकर प्रसन्नता हुई आप सभी को बहुत बहुत बधाई व शुभकामनाएं

Devi Nangrani [dnangrani@gmail.com]

Adarneey Chadda ji
Diwali KI shubhkamnayein ho aur Vishesh badhai ho is sunder sanjokar rakhne wale ank ke liye. Aapki Pustak Ka ansh Bahut Pasand aya Santosh ke novel Ka ansh bhi pathaneey ata manga hai
xxxxxx Sadar
Nangrani

महेन्द्र देवांगन माटी

साहित्य सुधा के सभी अंकों को पढता हूँ । यह पत्रिका साहित्य के साथ साथ समाज को दिशा दिखाने का कार्य करती है । इसमें सभी रचनाकारों की रचनाएँ बहुत अच्छी लगती हैं। संपादक महोदय एवं पत्रिका के पूरी टीम को बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ ।

shridhargovind@gmail.com

Patrika bahut hi achchi hai.
sadprayas ke liye hirdik abhinandan.

manjurani2015@gmail.com

bahut sundr kaam kiya ja rha h .badhai

Tanu srivastava lko@gmail.com

पहली बार पढ़ा अंक। बहुत अच्छा लगा,,संस्मरण ,,,मंडप के नीचे,, कविता ,
मन्नत के धागें,,,कहानी,,,,अभिनय कविताएं,,,, डर लगता है,
प्रकृति गीत,,प्रभवशाली है बधाई रचनाकारों को,
और समपदक महोदय को

neelam11052014@gmail

मान्यवर सम्पादक जी

सादर प्रणाम।

साहित्य सुधा का अगस्त अंक पढा,कहानी,कविता ,हास्य व्यंग्य, राजपाल
गुलिया जी का दोहा संग्रह उठने लगे सवाल बहुत पसंद आये। अंक पढ़कर
गदगद हो गए।

xx xx xx

सम्पादक जी

सादर प्रणाम।

सितम्बर द्वितीय अंक में आपकी रचना जागता स्वप्न
बहुत पसंद आई।

महावीर उत्तरांचली

वाह! वाह! क्या बात है अजय भाई। अति उत्तम :—

सरल है व्याकरण इसका,सरल है लिखने पढ़ने में
करें हम काम हिन्दी में,बहुत आसान है हिन्दी ॥

सविता अग्रवाल "सवि" कैनेडा

डॉ अनिल जी |
बहुत बहुत धन्यवाद | सितम्बर द्वीतीय अंक प्राप्त हुआ | आपके द्वारा रचित 'जागता स्वप्न" गरिमा जी द्वारा रचित "सब सूना हो जाएगा ", पीताम्बर सराफ "रैंक" द्वारा रचित "रोती लड़की" , सुशील शर्मा जी की "अंतस" , शुची भवि जी के भावपूर्ण हाइकु और कवि राजेश पुरोहित जी की "चुनावी चौका" नामक रचना पढ़कर बहुत अच्छा लगा सभी रचना कारों की कलम इसी प्रकार चलती रहे |अनेक शुभकामनाएं |
सादर

इस अंक में
कवितायेँ


1.अजय अमिताभ सुमन -

(i)व्यापार

2.अजय एहसास -

(i)एहसास की अभिलाषा

3.डॉ०अनिल चड्डा -

(i)क्या वो भूल पाये होंगे?

4.डाॅ. दयाराम -

(i)भूख

5.देवेन्द्र कुमार राय -

(i)दीया जलाएँ

6.डॉ दिग्विजय शर्मा "द्रोण" -

(i)आया पतियों का त्योहार

7.हरिहर झा -

(i)दिल में चुभता शूल

8.जनकदेव जनक -

(i)बहार की आहट



9.लवनीत मिश्र -

(i)दुर्गा रूप धर वृद्ध का
(ii)कलयुग का आगमन

10.मोहन पांडेय -

(i)नहीं मिटे सूदखोर
11.मुकेश कुमार ऋषि वर्मा -

(i)झोपड़ी

12.मुरलीधर वैष्णव -

(i)अदब

13.प्रिया देवांगन "प्रियू" -

(i)दिवाली मनायेंगे
(ii)पेड़ लगायें

14.राजेश भंडारी “बाबु “ -

(i)हर रोज दीवाली है

15.रश्मि सुमन -

(i)मन का वो कोना

16.सत्येन्द्र बिहारी -

(i)टूटते एहसास



17.सौम्या मिश्रा अनुश्री -

(i)हम सबकी तकदीर

18.सविता अग्रवाल “सवि’ -

(i)बचपन जी लेती हूँ
(ii)मृत्यु का भय

19.शम्भु प्रसाद भट्ट'स्नेहिल' -

(i)दहेजः एक सामाजिक अभिशाप

20.शशि तिवारी -

(i)नये जगत को हंसते देखा

21.डॉ. सुभद्रा खुराना -

(i)लक्ष्‍मी की आराधना

22.सुशील कुमार शर्मा -

(i)अकेला दीप
(ii)द्रौपदी का आर्तनाद
(iii)मैं रावण

23.तारकेश कुमार ओझाः -

(i)दिवाली की दौलत ....!!

गीत, गज़ल, इत्यादि


ग़ज़लें

1. अनिरुद्ध सिन्हा -

(i)न गिला है न शिकायत
(ii)मजबूरियाँ

2.डॉ० डी एम मिश्र -

(i)गाँव - गाँव हो गया भिखारी
(ii)गाँवों का उत्थान
(iii)मेरा गाँव, शहर हो
 जाये ऐसा कभी न हो


3. नरेन्द्र श्रीवास्तव -

(i)मेरी ग़ज़ल

4. नवीन मणि त्रिपाठी -

(i)कोई ले गया मेरा चाँद
(ii)मत पूछिए क्या क्या हुआ

5.पीताम्बर दास सराफ "रंक" -

(i)जला के रख दिया दिल

6.सतविन्द्र कुमार राणा -

(i)तकरार की बातें

7.सुशील यादव -

(i)हम तो मत के दाता ठहरे ...
(ii)मुक़ाबिल तो मेरे .....

बच्चों का कोना


1.महेन्द्र देवांगन "माटी" -

(i)दीवाली के रंग , पटाखों के संग

2.मेराज रज़ा -

(i)प्यारा भारत देश हमारा
(ii)आओ नया भारत बनाएं

3.डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" -

(i)सब बच्चों का प्यारा मामा



नज़्में


1.अजय अज्ञात


(i)बिना दुश्वारियों के ज़िंदगी क्या

2.डॉ०अनिल चड्डा

(i)दुनिया शोर क्यों मचाती है
(ii)इक उम्र हुई अपनी दास्ताँ कहे हुए

3.सलिल सरोज

(i)चाँद निकल आया है
(ii)आप कहाँ खोई रहीं

4.प्रीती श्रीवास्तव

(i)रूला दिया

गीत


1.गायत्री द्विवेदी 'कोमल'


(i)नसीहत



हाइकु


1. कमला घटाऔरा -

(i)बाल दिवस ....

दोहे

1.प्रेम सागर


(i)प्रेम सागर के दोहे

2.रमेश शर्मा -

(i)दोहे रमेश के दिवाली पर

आलेख, कहानियाँ, व्यंग्य, इत्यादि
लघुकथायें


1.चंद्रेश कुमार छतलानी -

(i)मेरी याद

2.राजीव कुमार -

(i)गृह प्रवेश
(ii)पिता

पुस्तक समीक्षा


1.ओमप्रकाश क्षत्रिय “प्रकाश”[समीक्षक]
-

"त्रिवेणी "[कहानी-कविता-ग़ज़ल संग्रह] की समीक्षा

2.खीमन मूलाणी [समीक्षक]
(i)देवी नागरानी [लेखिका]

- "अपने ही घर में" (कहानी संग्रह) की समीक्षा

3.डॉ. विजेंद्र प्रताप सिंह [समीक्षक]
(i)सुभााष अखिल [लेखक]

- "दरमियाना"(उपन्यास) की समीक्षा

कहानियाँ





हास्य-नाटक


1.दिनेश चन्द्र पुरोहित -

(i)"दबिस्तान-ए-सियासत"
 (अंक 12)


व्यंग्य


1.सुशील यादव -

(i)आवारा कुत्तों का
 रोड शो .....


2.शुचि 'भवि' -

(i)चुनावी त्यौहार दिवालिया
 घोषित हो


धारावाहिक उपन्यास


1. प्रबोध गोविल -

(i)प्रस्तुत है प्रबोध गोविल
 के एक और उपन्यास
 'जल तू जलाल तू ' का
 अध्याय-२


2. संतोष श्रीवास्तव -

(i)पढ़ें संतोष श्रीवास्तव
 के धारावाहिक
 उपन्यास "लौट आओ
 दीपशिखा" का अगला
 भाग


आलेख

1.घनश्याम बादल
-

(i)शिक्षा दिवस ११ नवंबर पर विशेष:
 महज़ बदलाव के लिए न हो बदलाव ।
 कैसी हो नई शिक्षानीति !

(ii)दीपपर्व विशेष :
 लीक से हट कर मनाएं दीवाली
 खुद दीया बनें हम ।


2.राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित" -

(i)भारत का बिस्मार्क लौह पुरुष
 भारत रत्न सरदार बल्लभ भाई पटेल
(संदर्भ:- जन्म दिवस 31 अक्टूबर)


3.डॉ. सुबोध कुमार शांडिल्य -

(i)कबीर साहित्य में ब्रह्म,जीव और जगत

4.सुशील कुमार शर्मा -

(i)मौन का अनुवाद –अंतर्द्वंद

अनूदित साहित्य


1.डॉ०अनिल चड्डा -

(...गतांक से)डॉ० रिक लिंडल द्वारा
रचित अंग्रेजी पुस्तक
'The Purpose' का
डॉ० अनिल चड्डा
द्वारा हिंदी अनुवाद
- पढ़ें "अध्याय 10 - पाप के रास्ते पर।


2.डॉ.रजनीकान्त एस.शाह -

(i)डॉ.पद्मश्री गुणवन्तभाई शाह के लेख
 का हिंदी अनुवाद


3.प्रजापति गुरुदेव -

(i)योगेश जोशी की कविता 'किनारे बैठ'
 का हिंदी अनुवाद


पुस्तकें

होनहार हैं हम बच्चे:
भविष्य की धरोहर हम बच्चे
(बच्चों की कवितायेँ)

मन की बातें जग भी जाने

कुछ ज्ञात कुछ अज्ञात
(कविता संग्रह)


बदलते रिश्तों का समीकरण
लेखिका - रोली अभिलाषा

कृपया रचनाओं पर अपनी टिप्पणी भेजें!

आपका ई-मेल पता :
आपका नाम:
टिप्पणी:
 
कृपया अपनी रचनाएँ,जो मौलिक होनी चाहिए और यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हों, निम्नलिखित
ई-मेल पर भेजें :-

sahityasudha2016@gmail.com
[यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें]

गोपनीयता नीति

कुछ अन्य साहित्यिक वेबपत्रिकाएँ

 1.साहित्यकुंज
 2.अनुभूति
 3.काव्यालय
 4.लघुकथा.com
 5.साहित्यसरिता
 6.हिन्दी नेस्ट
 6.सृजनगाथा
 7.कृत्या
 8.हिन्दी हाइकु
 9.सेतु साहित्य

"साहित्यसुधा को सब्सक्राइब करें"

सहित्यसुधा की सूचना पाने के लिये कृपया अपना ई-मेल पता भेजें