Sahityasudha

साहित्यकारों की वेबपत्रिका

साहित्य की रचनास्थली

यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को
डाउनलोड करने के लिये इस लिंक ↓पर क्लिक करें।


"साहित्यसुधा" की एप्प डाउनलोड करने के लिए इस लिंक ↓ पर क्लिक करें ।

रचनाकारों से निवेदन है कि अपनी रचनाएँ माइक्रोसॉफ़्ट वर्ड में टाइप करके अलग से अपनी मेल के साथ संलग्न करें।

वर्ष: 4, अंक 86, जून(प्रथम), 2020

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुनर्प्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं। सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्यसुधा में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्यसुधा टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है। साहित्यसुधा एक सम्पूर्णतः साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य सभी रचनाकारों को प्रोत्साहित करके हिंदी को बढ़ावा देना है | इसके माध्यम से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा।

साहित्यसुधा

संपादकीय मंडल:-

संपादक - डॉ०अनिल चड्डा 

सह-संपादक - अखिल भंडारी  Akhil Bhandari

साहित्यिक समाचार





कनाडा चैप्टर मध्यप्रदेश के तत्वावधान में काव्य गोष्ठी का आयोजन

आरंभ चैरिटेबल फाउंडेशन एवं विश्व हिंदी संस्थान कनाडा ,चैप्टर मध्यप्रदेश के तत्वावधान में " लाक डाउन- आरंभ- ताजगी भाव भूमि" पर काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न रचनाकारों ने भाग लिया और लॉक डाउन में रहते हुए किस तरह सभी की आदतों में, रहन-सहन, खान-पान में और सोच में बहुत कुछ सकारात्मक बदलाव हुआ है , किस तरह प्राकृतिक परिवेश परिदृश्य में सबसे अधिक बदलाव हुआ है, पेड़ पौधे, पर्यावरण, पशु पंछी और मानव ..............पूरा पढ़ें






गाँधी नगर गुजरात भारत के कवियों से गूंज उठा

महात्मा गांधी साहित्य मंच गांधी नगर के अध्यक्ष श्री डॉ गुलाब चंद पटेल कवि लेखक अनुवादक ने दिनांक :17 मई 2020 को ऑन लाइन हिंदी कवि सम्मेंलन आयोजित किया गया था जिस में भारत वर्ष के सभी प्रसिद्ध साहित्य कार कवियों ने हिस्सा लिया था और अपनी कविताए प्रस्तुत किया है, ..............पूरा पढ़ें




जिला स्तरीय निबन्ध प्रतियोगिता का परिणाम घोषित

भवानीमंडी:- अखिल भारतीय गुर्जर गौड़ गौतम महिला सभा झालावाड़ के द्वारा पहली बार जिला स्तरीय निबन्ध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसका विषय घर की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में ग्रहणी कैसे योगदान कर सकती है। इस विषय पर पूरे जिले की महिलाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। ..............पूरा पढ़ें






कोरोना महामारी जनजागरण अभियान पे सोमालोब ऑनलाइन बघेली कवि सम्मेलन सम्पन्न

कार्यक्रम संयोजक नवीन कुमार भट्ट नीर उमरिया ने बताया है कि दिनांक 24 मई 2020 रविवार को शाम 04 बजे से सोंधी माटी लोनी बघेली साहित्यिक मंच सीधी मध्यप्रदेश के द्वारा सोमालोब ऑनलाइन बघेली कवि सम्मेलन कोरोना महामारी के प्रति बघेली जनजागरण अभियान किया गया, कार्यक्रम के संचालन में शहडोल के युवा कवि गजलकार शिवपाल तिवारी व रीवा से कवि डॉ अतुल द्विवेदी अंजाना थे इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डाॅ सत्येन्द्र शर्मा जी सतना ..............पूरा पढ़ें






मेयर रीटा बहन पटेल जी द्वारा हिंदी कवि सम्मानित

महात्मा गांधी साहित्य सेवा संस्था गांधीनगर के अध्यक्ष डॉ गुलाब चंद पटेल कवि लेखक अनुवादक और सामाजिक कार्य कर के द्वारा आज दिनांक 19 05 2020 को शाम 4:00 बजे सम्मान पत्र समारोह का आयोजन किया गया, इस कार्यक्रम में दिनांक 17 /5/ 2020 को आयोजित ऑनलाइन हिंदी कवि सम्मेलन में जुड़े हुए कवियों ने अपनी अपनी कृति प्रस्तुत करके हिस्सा लिया था उन सभी कवियों को आज "हरिवंशराय बच्चन" ..............पूरा पढ़ें




भोजपाल साहित्य संस्थान , भोपाल की डिजिटल गोष्ठी दिनांक 22 मई 2020 को संपन्न

साहित्य के क्षेत्र में निरंतर सक्रिय संस्था , भोजपाल साहित्य संस्थान , भोपाल की लाॅक डाउन के चलते ’डिजिटल साहित्यिक गोष्ठी’ का आयोजन संस्था के कार्यकारी अध्यक्ष श्री सुदर्शन कुमार सोनी की पहल पर दिनांक 10 मई से 22 मई 2020 की अवधि के मध्य हुआ। इसमें प्रतिदिन दो साहित्यकारों की कृतियों का वीडियो एक पूर्वान्ह व एक अपरान्ह दो सत्रों में अपलोड किया गया। जिस को सुनने के ..............पूरा पढ़ें


समपादक की और से

“कोरोना ये तूने क्या”
जीने की आदत ने मौत से डरा दिया, कोरोना ये तूने क्या, ये तूने क्या किया। हर तरफ़ खामोशी है, दिलों में उदासी है, घरों में कैद बैठे हैं, खुशी को गम कर दिया, कोरोना ये तूने क्या..... बात किससे अब करें, हाथ किससे अब मिलें, दूर-दूर बैठे हैं, अपनों को है पराया किया। कोरोना ये तूने क्या..... समां अब ऐसा आया है, काला बादल छाया है, गुल खिले हैं बागों में, हमको खार दे दिया। कोरोना ये तूने क्या..... बिन जुर्म के,बिन खता के, सजा क्यों हमें मिली, सोच-सोच थक गए, पाप था हमने क्या किया कोरोना ये तूने क्या..... - डॉ० अनिल चड्डा

अब तक

आपके पत्र



"छाती पर भार लिए बैठा हूँ।" डॉ चड्ढा की बेहतरीन,यथार्थ परक रचना है।"भरे बाजार में बिकने के लिये, मैं अपने संस्कार लिये बैठा हूँ।" दोनों स्थितियां स्पष्ट होती हैं-इस बाजार-युग में हमने संस्कार भी बेच दिए हैं।यह भी की बाज़ार वाद में भी हम अपने संस्कार सुरक्षित रखने में सफल हुए है।अब "जिसकी रही भावना जैसी" वैसा अर्थ ग्रहण कर सकेगा। "वो चाहें जितना भी दगा कर लें, मैं तो दिल में प्यार लिये बैठा हूँ।" बहुत सुंदर सन्देश है।साहित्य का उद्देश्य भी यही है।यही सत्यं शिवम सुंदरम की स्थिति है।बधाई हो चड्ढा जी को।

- डॉ आर बी भण्डारकर
भोपाल


सुंदर अंक सब रंग विधा का। साहित्य की बहुमुखी प्रतिभाओं का विस्तृत कैनवास ।

सादर
- विश्वमोहन

आभार, इतनी बेहतरीन पत्रिका का।

सप्रेम एवं सादर ,
विश्वमोहन

adarneey anil ji

the magazine is at its best presentation with all the sinf of write ups. Har sahityakaar is manch par apni ek pehchaan bana raha hai.

with my very best wishes.

Devi Nangrani

Kamal Tamrakar

बहुत ही सुन्दर और लाजवाब
साहित्य सुधा परिवार के समस्त जन को साधुवाद

मान्यवर सम्पादक जी

सर्वप्रथम ह्रदय से आभार पत्रिका का लिंक भेजने के लिए | कुछ कवितायें पढ़ी जैसे आपके द्वारा रचित "कुछ तुम भूलो,कुछ वो भूलें "बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति है , शुची भावी जी की "ये कैसा बचपन "और अरुण कुमार प्रसाद जी की "आज अचानक जीवन मेरा हो उठा हाय !पराया रे" वर्षा वार्ष्णेय जी की " औरत सिर्फ औरत ही रह गयी |"

सभी रचनाकारों को हार्दिक बधाई |सभी की लेखनी को बल मिले |

धन्यवाद

सविता अग्रवाल "सवि "(कैनेडा)

नमस्कार चड्डा साहब

दिन प्रतिदिन, साल दर साल सफलता के नए कीर्तिमान गढ़ रहा हम सबका सहित्यसुधा। एक से बढ़कर एक रचना पढ़ने को मिलती है। साहित्य सुधा न केवल नवांकुरों का गर्मजोशी से स्वागत करता है बल्कि उनकी रचनाओं को भी यहाँ उचित स्थान दी जाती है। सभी रचनाकारों को मेरी ओर से बधाई शुभकामनाएँ।

रश्मि सुमन
साइको काउंसलर
पटना सिटी
पटना 800008
बिहार

इस अंक में

गीत, गज़ल, इत्यादि

आलेख, कहानियाँ, व्यंग्य, इत्यादि

कृपया अपनी रचनाएँ,जो मौलिक होनी चाहिए और यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हों, निम्नलिखित
ई-मेल पर भेजें :-

sahityasudha2016@gmail.com
[यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें]

गोपनीयता नीति

"साहित्यसुधा को सब्सक्राइब करें"

सहित्यसुधा की सूचना पाने के लिये कृपया अपना ई-मेल पता भेजें