Sahityasudha

साहित्यकारों की वेबपत्रिका

साहित्य की रचनास्थली

यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को
डाउनलोड करने के लिये इस लिंक ↓पर क्लिक करें।


"साहित्यसुधा" की एप्प डाउनलोड करने के लिए इस लिंक ↓ पर क्लिक करें ।

वर्ष: 4, अंक 67, अगस्त(द्वितीय), 2019

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुनर्प्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं। सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्यसुधा में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्यसुधा टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है। साहित्यसुधा एक सम्पूर्णतः साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य सभी रचनाकारों को प्रोत्साहित करके हिंदी को बढ़ावा देना है | इसके माध्यम से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा।

साहित्यसुधा

सम्पादकीय मंडल:-

सम्पादक - डॉ०अनिल चड्डा 

सह-सम्पादक - अखिल भंडारी  Akhil Bhandari

साहित्यिक समाचार

डाक निदेशक केके यादव सम्मानित

लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ एवं चर्चित ब्लॉगर व साहित्यकार श्री कृष्ण कुमार यादव को प्रशासनिक एवं सामाजिक क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिये उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने विधायी एवं न्याय मन्त्री श्री बृजेश पाठक .....

....पूरा पढ़ें


प्रेमचंद जयंती पर हुआ "हरे कक्ष में दिनभर" का लोकार्पण

देश के 56 सुविख्यात साहित्यकारों से लिए गए महत्वपूर्ण साक्षात्कारों का संग्रह "हरे कक्ष में दिनभर" गुरुवार 31 जुलाई 2019 को प्रेमचंद जयंती के अवसर पर राजस्थान हिंदी ग्रंथ अकादमी के सभागार में लोकार्पित हुआ। यह आयोजन प्रगतिशील लेखक संघ जयपुर

....पूरा पढ़ें


चम् चम् करतो चुड़ीलो माथा पे बोर बंद .... मालवी जाजम इंदौर में बिछी

सावन की फुआरों के साथ ही मध्य प्रदेश साहित्य अकादमी में मालवी जाजम बिछी और शहर के मालवी साहित्यकारों का जमावड़ा लगा | बादलों की गडगडाहट के साथ ही चमकती बिजली मानो आतिशबाजी और प्रक्रति का नजारा देखने लायक था |

....पूरा पढ़ें


भवानीमंडी के कवि राजेश पुरोहित हाड़ौती गौरव सम्मान 2019 से सम्मानित

भवानीमंडी:- शहर के कवि एवम साहित्यकार राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित" को न्यू कोटा इंटरनेशनल सोसायटी द्वारा शिक्षा नगरी कोटा में "हाड़ौती गौरव सम्मान 2019" से शुक्रवार को सम्मानित किया गया।

....पूरा पढ़ें


राष्ट्रीय ख्याति के बाईसवें अम्बिका प्रसाद दिव्य स्मृति पुरस्कारों हेतु कृतियाँ आमंत्रित

साहित्य सदन, भोपाल द्वारा राष्ट्रीय ख्याति के बाईसवें अम्बिका प्रसाद दिव्य स्मृति प्रतिष्ठा पुरस्कारों हेतु साहित्य की अनेक विधाओं में पुस्तकें आमंत्रित की गई हैं। उपन्यास, कहानी, कविता, व्यंग्य, निबंध एवं बाल साहित्य विधाओं में, प्रत्येक विधा के लिए इक्कीस सौ रुपये राशि के साहित्य-पुरस्कार प्रदान किये जाएँगे। दिव्य-पुरस्कारों हेतु पुस्तकों की दो प्रतियाँ,.....

....पूरा पढ़ें


अंत्योदय खिलौना बैंक का किया शुभारंभ

भवानीमंडी:- प्राथमिक कक्षाओं में गतिविधि आधारित शिक्षण व खेल खेल में विद्यार्थियों को पढ़ाने के नवाचार हेतु राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सूलिया में बुधवार को अंत्योदय खिलौना बैंक का शुभारंभ मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी उमेश कांति ने किया। आधुनिक खिलौने जब बालकों के हाथों आये तो चेहरे खिल गए।.....

....पूरा पढ़ें


राजीव डोगरा को रसाचार्य भरतमुनि सम्मान

कांगड़ा के राजीव डोगरा को मिला रसाचार्य भरतमुनि सम्मान। 28 जुलाई को साहित्य संगम संस्थान नई दिल्ली की व्याकरण साला मंच द्वारा एक ऑनलाइन कवि सम्मेलन रखा गया था जिसके लिए राजीव डोगरा को उनकी प्रस्तुति दी थी जिस के लिए.....

....पूरा पढ़ें


हरियाणवी काव्य संग्रह "मन का के ठिकाणा" का हुआ लोकार्पण

हरियाणवी काव्य संग्रह "मन का के ठिकाणा" का हुआ लोकार्पण रोहतक (न्यूज़)। गाँव अजायब निवासी नरेंद्र मोदी विचार मंच की महिला प्रदेश अध्यक्ष जानी मानी शिक्षाविद, समाज सेविका एवं कवयित्री डॉ सुलक्षणा अहलावत के पहले हरियाणवी काव्य संग्रह " मन का के ठिकाणा" का लोकार्पण हुआ। रोहतक में आयोजित कार्यक्रम में परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार, .....

....पूरा पढ़ें


संपादक की ओर से

“बेशर्मी का जमाना है ”
      
आजकल बेशर्मी का जमाना है,
गाली दे कर ताली बजाना है ।

वो किस हद तक गिर सकते हैं,
हमें भी ये बात आजमाना है ।

किसी की मेहरबानी दरकार नहीं,
इनायत-ए-खुदा का ख़जाना है ।

जाने-अनजाने रिश्ता है उनसे,
उसी का तो भरना जुर्माना है ।

पूजा-पाठ, गुरु बेकार हैं सब,
सही तो ज़मीर को जगाना है ।  


     - डॉ० अनिल चड्डा

अब तक

आपके पत्र



डा. अनिल चड्ढा जी,

सादर नमस्कार।

'साहित्य सुधा' का नया अंक पढ़ने को मिला। आपके प्रयास और लग्न को साधुवाद। xxx

सदैव शुभ कामनाओं सहित

कविता



प्रिय श्री अनिल चड्ढा जी,

नमस्कार! 'साहित्यसुधा' का जुलाई (द्वितीय) 2019 अंक प्राप्त हुआ, हार्दिक धन्यवाद। अंक में समाहित सभी सामग्री उत्तम और पठनीय है। साज-सज्जा और प्रस्तुतिकरण भी आकर्षक है। बेहतर संपादन एवं संयोजन के लिए बहुत बधाई और मंगलकामनाएँ।

सुबोध श्रीवास्तव
(सहा. संपादक)
'आज' (हिन्दी दैनिक),
कानपुर।

नमस्ते सर। अभी-अभी साहित्य सुधा का जुलाई प्रथम अंक पढ़ा, विविध प्रकार की सामग्रियों से सुसज्जित अंक बहुत ही पठनीय बन गया है।आपको अनेकानेक बधाईयां और साधुवाद।
Xxx xxx xxx xxxx xxxx xxxx

सादर,

सरिता सुराणा,
हैदराबाद

साहित्य सेवा के लिए आपको शुभकामनाएं और साधुवाद । लेकिन मैं यह बताना भी उचित समझूंगा कि मुझ जैसे अनेक वरिष्ठ नागरिक और पुराने साहित्यकार जो आपको रचनाएं भेजना चाहते हैं, कम्प्यूटर का सीमित ज्ञान होने के कारण या मात्र वर्ड में यूनिकोड फॉन्ट के अतिरिक्त अन्य फॉन्ट में ही रचनाओं को टंकित कर सकते हैं, के लिए आपकी इस शर्त को मानना लगभग असम्भव सा हो जाता है । हो सकता है तकनीकी कारणों से आपको भी असुविधा होती हो, लेकिन किसी समाधान के लिए इस दिशा में भी सोचें ।

Krishan Saini [benwetsaini@yahoo.in]

चड्डा साहब, नमस्कार

साहित्य सुधा के जून 2019 अंक की जितनी तारीफ करूँ, कम ही होगी।एक से बढ़ कर एक कविताएं हैं जो भावनात्मक धरातल पर संवेदनाओं का प्रतिनिधित्व करती हुई उसका प्रतिबिम्ब प्रतीत होती है। वास्तव में कविता सिर्फ मनोरंजन नहीं बल्कि वह अभिव्यक्ति है जो पाठक के समझ को परीक्षित करती है और इन्हें सिर्फ और सिर्फ वही समझ सकता है जो रिश्तों की कद्र करता हो और उन्हें बनाए रखने के लिए मान अपमान से परे प्रयत्नशील रहे। सिर्फ कविता ही क्यूँ आलेख हो या कहानियां सभी काबिलेतारीफ है।
इस बेहतरीन सृजन के लिये अनिल चड्डा जी को तहेदिल से बधाइयाँ और शुभकामनाएं और सभी रचनाकारों को मेरा प्रणाम व बधाई।

Rashmi Suman [positive.thinkerashmee@gmail.com]

सर,

मैंने आपकी कविता भिज्ञ - अनभिज्ञ पढ़ी।
वह काफी प्रेरणादायक और करुणामई कविता है।
उससे मुझे काफी कुछ सीखने को मिला है।

धन्यवाद।

Apurva Kushwaha
punita.appu@gmail.com

सादर नमन आदरणीय

प्रकाशित हर रचना बेहद उम्दा है
सभी कलम ढेरों बधाईयया

आपकी यह। बेब पत्रिका साहित्यकारो के लिए उम्दा मंच है

Yogi Nishad [yoginishad.yn@gmail.com]

इस अंक में

गीत, गज़ल, इत्यादि

आलेख, कहानियाँ, व्यंग्य, इत्यादि

कृपया अपनी रचनाएँ,जो मौलिक होनी चाहिए और यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हों, निम्नलिखित
ई-मेल पर भेजें :-

sahityasudha2016@gmail.com
[यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें]

गोपनीयता नीति

"साहित्यसुधा को सब्सक्राइब करें"

सहित्यसुधा की सूचना पाने के लिये कृपया अपना ई-मेल पता भेजें