Sahityasudha

साहित्यकारों की वेबपत्रिका

साहित्य की रचनास्थली

यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को
डाउनलोड करने के लिये इस लिंक ↓पर क्लिक करें।

साहित्यसुधा अंक की पीडीएफ फ़ाइल
डाउनलोड करने का तरीका यहाँ देखें ।

रचनाकारों से निवेदन है कि अपनी रचनाएँ माइक्रोसॉफ़्ट वर्ड में टाइप करके अलग से अपनी मेल के साथ संलग्न करें।

वर्ष: 5, अंक 96,नवम्बर(प्रथम), 2020

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुनर्प्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं। सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्यसुधा में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्यसुधा टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है। साहित्यसुधा एक सम्पूर्णतः साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य सभी रचनाकारों को प्रोत्साहित करके हिंदी को बढ़ावा देना है | इसके माध्यम से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा।

साहित्यसुधा

संपादक

डॉ०अनिल चड्डा 'समर्थ'

Anil Chadah

साहित्यिक समाचार





ज़न जागरुकता नवरात्रि महोत्सव का उद्घाटन





इंडियन लायंस गांधीनगर स्वर्णिम क्लब द्वारा ज़न जागरुकता नवरात्रि महोत्सव का आयोजन पंच देव मंदिर गांधी नगर मे दिनांक 17 अक्तूबर 2020 को रात 8.30 बजे किया गया था जिस का उद्घाटन आदरणीय श्री नाझा भाई डेप्युटी मेयर के कर कमलों से किया गया, इस कार्यक्रम में डेप्युटी मेयर श्री नाझा भाई द्वारा माता जी की आरती किया गया था,श्री नाझा भाई डेप्युटी..............पूरा पढ़ें






वैज्ञानिक तथा तकिीकी शब्दावली आयोग के हीरक जयंती समारोह का आयोजन


केंद्रीय शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ जी ने आज 01 अक्टूबर 2020 को मुख्य अतिथि के रूप में वैज्ञानिक और तकनीकी शब्दावली आयोग (उच्च शिक्षा विभाग) के हीरक जयंती समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए। केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री श्री संजय धोत्रे भी सम्मानीय अतिथि के रूप में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि माननीय शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल 'निशक' जी ने ..............पूरा पढ़ें







कृष्ण कुमार यादव का ब्लॉग 'डाकिया डाक लाया' टॉप ब्लॉग्स में शामिल


देश-विदेश में इंटरनेट पर हिंदी के व्यापक प्रचार-प्रसार और ब्लॉगिंग के माध्यम से अपनी रचनाधर्मिता को विस्तृत आयाम देने वाले वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव के ब्लॉग 'डाकिया डाक लाया' (http://dakbabu.blogspot.com/) को टॉप हिंदी ब्लॉग्स में शामिल किया गया है। वर्ष 2008 से ब्लॉगिंग में सक्रिय एवम ''दशक के श्रेष्ठ हिंदी ब्लॉगर दम्पति'' ..............पूरा पढ़ें





विश्व मैत्री मंच की मध्यप्रदेश इकाई का ऑनलाइन कार्यक्रम



भोपाल। संक्रमण के कारण घर से नहीं निकल सकते तो क्या, घर पर रह कर मातारानी की आराधना तो कर ही सकते हैं वह भी अकेले नहीं, सभी सखी-सहेलियों और परिचितों के साथ। विश्व मैत्री मंच की मध्यप्रदेश इकाई ने ऐसा ही ऑनलाइन कार्यक्रम किया, जिसमें लेखिकाओं, कवयित्रियों और साहित्यकारों ने जगत जननी मॉ जगदम्बे की महिमा को अपने गीतों में व्यक्त किया। ये गीत भी ऐसे जो भजन बन गए और सुनने वाले का मन रमणीय हो गया। ..............पूरा पढ़ें







"बड़ों की बानगी - 2020"




राही सहयोग संस्थान के कार्यकारी निदेशक और विख्यात साहित्यकार प्रबोध कुमार गोविल ने घोषणा की है कि वर्ष 2020 में चयनित "हिंदी के वर्तमान 100 बड़े रचनाकारों की "राही रैंकिंग - 2020" में शामिल रचनाकारों की रचनात्मकता के कुछ अंश पाठकों के लिए उपलब्ध कराने के लिए संस्थान 5 किताबों का एक सेट प्रकाशित कर रहा है। ..............पूरा पढ़ें






मन से मंच तक




महिला काव्य मंच (अहमदाबाद इकाई) की ओर से 11 अक्टूबर की शाम प्रथम ऑनलाइन महिला काव्य सम्मलेन का आयोजन किया गया । गोष्ठी का शुभारम्भ डॉ. मीरा रामनिवास जी के द्वारा माँ शारदे के सम्मुख दीप प्रज्ज्वलित करने के उपरांत सरस्वती वंदना करके किया गया । उसके उपरांत महिला काव्य मंच (अहमदाबाद इकाई ) की अध्यक्षा सुश्री मंजु महिमा भटनागर जी के अध्यक्षीय भाषण से कार्यक्रम को आगे बढाया गया । उन्होंने अपने वक्तव्य में ..............पूरा पढ़ें



समपादक की और से

“चलता चल तो राह मिलेगी!”
 
कौन हुआ है दर्द का सम्बल,
कौन हुआ है तेरा अपना,
सब सहलायें छाले अपने,
गौण हुई दूजे की पीड़ा ।


रोना है तो खोना है सब,
दर्द तुझी को होना है सब,
ग़म को पी ले मान के अमृत,
ठौर है इसका और कहाँ ।


नहीं राह पर काँटें मिलेंगें,
सोच, अगर हम नहीं चलेंगें,
जीवन में तो हारेंगें ही,
मंजिल भी हमको मिलेगी कहाँ ।


चल उठ फिर खा कर ठोकर,
छोड़ न रस्ता हिम्मत खोकर,
चलता चल तो राह मिलेगी,
सोच में तू बेकार है पड़ा ।

 - डॉ० अनिल चड्डा 'समर्थ'

अब तक

आपके पत्र


विजय प्रभाकर नगरकर

महोदय

साहित्यसुधा का अंक नियमित रूप में प्राप्त हो रहा है। आपका संपादन और साहित्य अनुराग प्रशंसनीय है। सितंबर का अंक पठनीय है। ई पत्रिका के युग में स्तरीय पत्रिका प्रकाशित हो रही है। कृपया मेरे नए ई मेल पर पत्रिका भेजते रहिए।
vpnagarkar@gmail.com

भवदीय
विजय नगरकर
अहमदनगर, महाराष्ट्र

RITA TIWARI


आदरणीय संपादक महोदय जी

साहित्य सुधा का सितंबर का द्वितीय अंक पढ़ाI
बहुत ही सुंदर और उत्कृष्ट तरीके से पत्रिका का संपादन किया गया है| इसमें प्रकाशित सभी रचनाएं एक से बढ़कर एवं बेहतरीन हैं| पत्रिका का कवर पेज और इसकी साज सज्जा भी बहुत ही सुंदर है |सभी लेखकों, कहानीकारों ने साहित्य की उत्कृष्टतम प्रस्तुति दी है |बहुत-बहुत आभार इस पत्रिका में स्थान देने के लिए| पत्रिका इसी प्रकार से उत्तरोत्तर प्रगति करें |इसी शुभकामनाओं के साथ अगले अंक की प्रतीक्षा में| रीता तिवारी "रीत" अध्यापिका, स्वतंत्र लेखिका एवं कवियत्री, एम ए समाजशास्त्र बीएड सीटीईटी उत्तीर्ण मऊ उत्तर प्रदेश से
reetatiwari4588@gmail.com

yogendranath Sharma Dr arun

प्रिय अनिल,

तुम जो लगातार "साहित्य सुधा" के माध्यम से साहित्य की सेवा कर रहे हो,वह प्रशंसनीय है।

डॉ "अरुण"

Ramdayalrohaj

साहित्यसुधा का सितम्बर द्वितीय अंक बहुत ही प्रशंसनीय रहा ।
यह अंक नवीन रचनाओं का अद्भुत संग्रहालय दिखाई देता है
हर रचना कला और शब्द चयन एवं भावाभिव्यक्ति का बेहतरीन नमूना है जो वास्तव में पाठक को प्रथम पंक्ति से अंतिम पंक्ति तक बाँधे रखने का साहस रखती है । हर विद्या पर चलने वाली कलमें बधाई की पात्र है

कङी मेहनत एवं निरन्तरता के लिए सं. अनिल जी चड्डा को बहुत बहुत बधाई ।

रामदयाल रोहज
खेदासरी
ramdayalrohaj.rd@gmail.com

इस अंक में

गीत, गज़ल, इत्यादि

आलेख, कहानियाँ, व्यंग्य, इत्यादि

आलेख

1.अमर 'अरमान' -

(i)ऑनलाइन

2.डॉ०चंद्रेश कुमार छतलानी -

(i)नौ दिन समयानुसार नवरात्रि व्रत के

3.डॉ.दीपा गुप्ता -

(i)एक संघर्षमयी व्यक्तित्व - मैत्रेयी पुष्पा

4.डॉ० घनश्याम बादल -

(i)भारत को महत्व से संयुक्त
 राष्ट्रसंघ को मिलेगी ताकत

(ii)सरदार पटेल: ऊंचा कद ,
 ऊंचे विचार

(iii)लक्ष्मीबाई : मणिकर्णिका ताांबे
 से ‘खूब लड़ी मर्दानी तक...


4.मनप्रीत सिंह संधू -

(i)विज्ञान और धर्म
(ii)देश भक्ति
(iii)धर्म और धर्मनिरपेक्षता

5.ओदाजी -

(i)नारिधरमु पति देउ न दूजा

6.राजेन्द्र वर्मा -

(i)प्रेम और क्रांति के गायक :
 मजाज़ लखनवी


7. डॉ. राजेश पुरोहित -

(i)आनवी रावत ने अपनी
 बहुमुखी टैलेंट से हासिल
 किया अपना मुकाम


8.राजीव डोगरा -

(i)विजयदशमी

9.डॉ० रंजना वर्मा -

(i)मुंशी प्रेमचंद की राष्ट्रीय चेतना

10.डॉ. सदानंद पॉल -

(i)'इंदिरा' नामक ताला की चाभी थे 'जेपी'

कृपया अपनी रचनाएँ,जो मौलिक होनी चाहिए और यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हों, निम्नलिखित
ई-मेल पर भेजें :-

sahityasudha2016@gmail.com
[यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें]

गोपनीयता नीति

"साहित्यसुधा को सब्सक्राइब करें"

सहित्यसुधा की सूचना पाने के लिये कृपया अपना ई-मेल पता भेजें