Sahityasudha

साहित्यकारों की वेबपत्रिका

साहित्य की रचनास्थली

यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को
डाउनलोड करने के लिये इस लिंक ↓पर क्लिक करें।


"साहित्यसुधा" की एप्प डाउनलोड करने के लिए इस लिंक ↓ पर क्लिक करें ।

रचनाकारों से निवेदन है कि अपनी रचनाएँ माइक्रोसॉफ़्ट वर्ड में टाइप करके अलग से अपनी मेल के साथ संलग्न करें।

वर्ष: 4, अंक 69, सितंबर(द्वितीय), 2019

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुनर्प्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं। सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्यसुधा में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्यसुधा टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है। साहित्यसुधा एक सम्पूर्णतः साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य सभी रचनाकारों को प्रोत्साहित करके हिंदी को बढ़ावा देना है | इसके माध्यम से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा।

साहित्यसुधा

संपादकीय मंडल:-

संपादक - डॉ०अनिल चड्डा 

सह-संपादक - अखिल भंडारी  Akhil Bhandari

साहित्यिक समाचार



हिंदी साहित्य समृद्धि रत्न से सम्मानित डॉ गुलाब चंद पटेल

हिंदी साहित्य समृद्धि मंच मुजफ्फरपुर बिहार राष्ट्रीय शिव शक्ति साहित्य कला उन्नयन मंच बाराबंकी अवध प्रांत उत्तर प्रदेश के तत्वाधान मे ऑन लाइन मासिक कवि सम्मेलन 5 का आयोजन किया गया था जिस मे हिंदी गुजराती कवि लेखक अनुवादक और नशा मुक्ति अभियान प्रणेता ब्रेस्ट कैंसर अवेर्नेस प्रोग्राम आयोजक गांधीनगर के द्वारा हिस्सा लिया गया था,..............पूरा पढ़ें



"खूँटी पर आकाश" का लोकार्पण"

हिंदी साहित्य समृद्धि मंच मुजफ्फरपुर बिहार राष्ट्रीय शिव शक्ति साहित्य कला उन्नयन मंच बाराबंकी अवध प्रांत उत्तर प्रदेश के तत्वाधान मे ऑन लाइन मासिक कवि सम्मेलन 5 का आयोजन किया गया था जिस मे हिंदी ..............पूरा पढ़ें



"लखनऊ की संस्था परिकल्पना की 13वाँ वार्षिक महासभा संपन्न"

हिंदी को वैश्विक स्तर पर पहचान दिलाने में लखनऊ की संस्था परिकल्पना का अहम स्थान है। विश्व के 11 देशों में ‘‘ब्लॉगोत्सव‘‘ और ‘‘अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी उत्सव‘‘ का आयोजन कर चुकी यह संस्था हिन्दी भाषा को अंतर्राष्ट्रीय स्वरूप देने की दिशा में बड़ा काम कर रही है। उक्त उद्गार चर्चित ..............पूरा पढ़ें



"शिक्षक/शिक्षिकाएँ सम्मानित"

साहित्य संगम संस्थान दिल्ली द्वारा आयोजित 05 सितंबर 2019 शिक्षक दिवस के शुभ अवसर पर शिक्षक/शिक्षिकाओं का सम्मान समारोह बाखूबी सम्पन हुआ कार्यक्रम का शुभारंभ शाम 05 बजे से आयोजित किया गया।कार्यक्रम के शुभ बेला पर मुख्य अतिथि डॉ मीना भट्ट जी,डॉ राजलक्ष्मी शिवहरे जी,विशिष्ट अतिथि डॉ कैलाश मंडलोई कदंब जी,कार्यक्रम अध्यक्ष छगनलाल विज्ञ जी,साहित्य संगम संस्थान के अध्यक्ष राजवीर सिंह मंत्र जी,साहित्य संगम ..............पूरा पढ़ें



"हिंदी के वर्तमान 100 रचनाकारों की राही रैंकिंग"

1. नरेंद्र कोहली/ Narendra Kohli 2. चित्रा मुद्गल/ Chitra Mudgal 3. काशीनाथ सिंह/ Kashinath Singh 4. सूर्यबाला/ Suryabala 5. मैत्रेयी पुष्पा/ Maitreyi Pushpa 6. नासिरा शर्मा/ Nasira Sharma ..............पूरा पढ़ें



"सुर बाला" और "स्वर्णिम सौगातें" का विमोचन

आज दिनांक 8.9.2019 को दोपहर 3 बजे साइंस पार्क सभागार,शास्त्री नगर,जयपुर में 'शब्द सौरभ' हिन्दी मंच के तत्वावधान में ख्यातनाम साहित्यकार एवं आध्यात्मिक चिंतक श्री प्रमोद मूंदड़ा की दो पुस्तकें -स्वर्णिम सौगाते और सुरबाला (अंग्रेजी में) का विमोचन कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रसिद्ध साहित्यकार ..............पूरा पढ़ें



सम्मानित हुए प्रमोद सोनवानी

।।रायगढ़।। :- अंतर्राष्ट्रीय साहित्य संस्था "मंजिल ग्रुप साहित्य मंच" - नई दिल्ली के बैनर तले तहसील घरघोड़ा के प्राचीन बैगिन डोकरी मन्दिर प्रांगण में गत् दिवस एक भव्य राष्ट्रीय साहित्य संगोष्ठी का आयोजन किया गया । ..............पूरा पढ़ें



उज्बेकिस्तान की राजधानी ताशकंद में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जुटे साहित्यकार........

भोपाल की संस्था विश्व मैत्री मंच द्वारा आयोजित उज्बेकिस्तान की राजधानी ताशकंद के ग्रैंड प्लाज़ा सभागार में भारत ,अमेरिका तथा उज्बेकिस्तान देशों से आए 32 साहित्यकारों ने साहित्य के विभिन्न विषयों पर चर्चा विमर्श कर हिंदी को वैश्विक स्तर पर एक सूत्र में लाने का प्रयास किया। ..............पूरा पढ़ें



साहित्यकार त्रिलोक सिंह ठकुरेला पाठ्यक्रम में

सुपरिचित कुण्डलियाकार एवं साहित्यकार त्रिलोक सिंह ठकुरेला की रचनाओं को XSEED EDUCATION की कक्षा 6, 7 एवं 8 की पाठ्यपुस्तकों में सम्मिलित किया गया है। XSEED EDUCATION की कक्षा 6 की हिन्दी पाठ्यपुस्तक भाग 2 में त्रिलोक सिंह ठकुरेला की कुण्डलियां, कक्षा 7 की हिन्दी पाठ्यपुस्तक भाग 1 में बाल कविता एवं कक्षा 8 की हिन्दी पाठ्यपुस्तक में गीत सम्मिलित किया गया है। ज्ञातव्य है कि XSEED EDUCATION का मुख्यालय सिंगापुर में स्थित है जिसकी ..............पूरा पढ़ें



देशभर के बाल साहित्यकारों का कुंभ संपन्न

शब्द निष्ठा संस्था द्वारा 2 सितंबर को अजमेर में देशभर के साहित्यकारों को आमंत्रित किया गया । अवसर था शब्दनिष्ठा सम्मान समारोह 2019 का। इस वर्ष यह आयोजन बालसाहित्य के लिए रखा गया था। ..............पूरा पढ़ें

संपादक की ओर से

“शीशे सा था वतन मेरा ”

शीशे सा था वतन मेरा, तुमने है चकनाचूर किया,
स्वार्थवश तूने क्यों भाई से भाई दूर किया ।

निर्मल से दर्पण में दिखता था, हर चेहरे पे भारत का नूर,
हर टुकड़े में दिखने लगा है, बस अपनी 'मैं' का ही सुरूर,
देश पे मरने वालों ने ही, देश को है कमजोर किया।

अपनों को अपने घर से ही, बेघर क्यों करते फिरते हो,
अपनों पर अंगुली उठाना,अच्छी बात समझते हो,
कड़वी बातें कहने को, तुमने ही मजबूर किया ।

     - डॉ० अनिल चड्डा

अब तक

आपके पत्र



आदरणीय अनिल जी,

नमस्कार

अंक लगातार पढ़ रहा हूँ । आपकी यह उद्यमिता खुशी देती मुझे भी । वाकई बड़ा काम ही है । प्रवासी संसार में रहकर यह सब कर गुज़रना बेहद प्रशंसनीय है - आपकी भाषा व साहित्य के प्रति रागात्मकता का जीवंत प्रमाण है "साहित्य सुधा"।

Jay prakash Manas

डा. अनिल चड्ढा जी,

सादर नमस्कार।

'साहित्य सुधा' का नया अंक पढ़ने को मिला। आपके प्रयास और लग्न को साधुवाद। xxx

सदैव शुभ कामनाओं सहित

कविता

इस अंक में

गीत, गज़ल, इत्यादि

आलेख, कहानियाँ, व्यंग्य, इत्यादि

आलेख

1.कवि आनन्द सिंघनपुरी -

(i)संगीत प्रेमी स्व.अनुप कुमार
 गौटिया की पुण्यतिथि पर


2.अंकित भोई 'अद्वितीय' -

(i)शिक्षक एक राष्ट्र निर्माता

3.घनश्याम बादल -

(i)खेल दिवस (29 अगस्त ) पर खास:
 ज़रुरी है खेल जागरण

(ii)साक्षरता दिवस (8 ससतंबर):
 'अक्षर' बिन सब सून !'

(iii)शिक्षक दिवस विशेष:
 लौटानी होगी सच्चे ज्ञान की परंपरा


4.डॉ.गुर्रमकोंडा नीरजा -

(i)हिंदी : हमारी अस्मिता की भाषा

5.पद्मा मिश्रा -

(i)शिक्षा का महत्त्व -आज के सन्दर्भ में

6.राजेन्द्र वर्मा -

(i) हिंदी नवजागरण के जनक-
 भारतेंद हरिश्चंद्र


7.डाॅ0 सच्चिदानन्द झा -

(i)संस्कृत की वैज्ञानिक पहुँच

8.सरिता सुराना -

(i)आत्मा की आराधना का
 महापर्व है - पर्युषण

(ii)गुरु-शिष्य परम्परा और शिक्षक
 दिवस आज भी उतने ही प्रासंगगक हैं


कृपया अपनी रचनाएँ,जो मौलिक होनी चाहिए और यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हों, निम्नलिखित
ई-मेल पर भेजें :-

sahityasudha2016@gmail.com
[यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें]

गोपनीयता नीति

"साहित्यसुधा को सब्सक्राइब करें"

सहित्यसुधा की सूचना पाने के लिये कृपया अपना ई-मेल पता भेजें