Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 1, अंक 5, नवम्बर, 2016



चिर यौवनता का धनी


सुदर्शन सोनी


हमारी किशोरावस्था से जवानी आ गयी , जवानी पूरे दिन कौन चढा़व पर रहती है एक दिन उतार पर आ जायेगी , उसके बाद सबसे ज्यादा भयभीत करने वाली बुढा़पावस्था आती है। लेकिन एक शख्स के चेहरे पर इतने सालो मे शिकन तक नही आयी। मै जिस शख्स की बात कर रहा हूं उसके बारे मे आपके भी यही विचार होंगे। जब भी उसकी फोटो अखबारो मे देखता हूं या कि अन्य मीडिया मे उसे दिखाया जाता है वही जस का तस गबरू ! बीस साल पहले जैसा था आज भी वैसा ही और न कहो आने वाले बीस साल तक भी एैसा ही रहे ! अरे भाई क्या गजब का मेन्टेन किया है कि एक शिकन तक चेहरे मे नही दिखती। लगता है कि बीस सालो मे इस अपराध की दुनिया के लाल का एक भी बाल का बाल भी बांका नही हुआ और न ही यह पका ! एैसा बांका जवान बना हुआ है यह ! लोग जवान बने रहने के लिये न जाने क्या क्या पापड़ नही बेलते है। कोई अमर बेल का काढा़ पीता है , तो कोई आंवले का सेवन, तो कोई अन्य जडी़ बूटियो का सेवन करता है , तो कोई बारहसिंगा के सींग के चूर्ण को औषधीय मानकर सेवन करता है , तो कोई शिलाजीत का उपभोग करता है , शराब सिगरेट को हाथ नही लगाता है बस एक ही दिली इच्छा कि बुढा़पे की परछाई भी दूर रहे। पूरे नियम कर्म से रहता है । कुछ समय पहले एक वैज्ञानिक ने साईबेरिया मे शून्य से नीचे के ताप पर लाखो साल तक जिंदा बने रहने वाले बैक्टीरिया की खोज की और उस का इंजेक्शन भी अपने को लगा लिया और वह दावा कर रहे कि अब ज्यादा ऊर्जावान अपने को महसूस कर रहे है ! कहा जाता है कि ’एजिंग’ कुछ समय के लिये रूक सकती है इसे डिले किया जा सकता है , लेकिन हमेशा के लिये इससे नही बचा जा सकता है। लेकिन लगता है कि अब इनसे यह राज पता करना चाहिये। आखिर माने भी कैसे नही वही काला चश्मा और वही जवानी का गुरूर से भरा चेहरा , बीस सालो से देख रहे है , देश के सारे लोग। एक ओर पुलिस व इंटेलीजेन्स एजेंसियो की नींद हराम है लेकिन ये है कि ज्यों के त्यों जवान बने है अब कोई कह सकता है कि ऐसा नही हो सकता । उम्र ने असर तो इन पर भी किया होगा ? अरे भाई कैसे मान ले एैसा होता तो इनकी फोटो तो बदलती ? वही एक ही फोटो बार बार अखबारो मे छपती है और एक अखबार नही दर्जनो मे हमने यों ही देखा है। सुरक्षा एजेंसियो के कई युवा अधिकारी जांच करते करते वृद्व होकर रिटायर हो गये लेकिन इसके चेहरे पर शिकन तक नही आयी। अब यदि आप कहते हो कि यह किसी हालत मे उतना जवान नही हो सकता जितना कि बहुत समय पहले के दुबई के क्रिकेट के एक मैच की फोटो मे दिखाया गया है , और आप बार बार कहते हो कि वो फंला जगह रहते है , लेकिन अभी चुपचाप आईएसआई ने उन्हे और जगह शिफ्ट कर दिया है तो फिर कैसे आपके पास दूसरी फोटो तक नही है उसकी। क्या जासूसी है भारत की कि एक बुढ्ढेे हो चुके आदमी को जवान बनाये रखा है ? वही दूसरी ओर दूसरी ओर दूसरे पकडे़ डाॅन छोटा राजन को देखे कितना बूढा़ हो गया है ससुरा और ये ससुरा जवान का जवान हैं। तो हम तो यही मानते है कि यदि कोई बूढा़ नही हुआ है तो वह यह डान दाऊद ही है जो कि आन बान शान के साथ रह रहा है। और यदि उसकी जवानी को चैलेंज करना है तो फिर उसका कम से कम एक फोटो तो वर्तमान उम्र जताता जारी हो । कितने दिन तक देश के लोग यह बासी फोटो भले ही जवानी की हो देखते रहेंगे। भले ही अब वास्तविक रूप से पोपला व झुर्रीदार चेहरा हो उसका जिसमे बालो की फसल आधी होकर सफेद हो गयी हो यही हमे ज्यादा अच्छी लगेगी। हमारे पर यह लानत तो है ही , बल्कि बडी़ नाकामी है कि हम उसे यहां पर लाना तो दूर उसकी हाल के हाल की एक फोटो भी जुगाड़ नही कर पा रहे है ,! लेकिन दश्ष का गुनहगार हमेशा जवान बना रहे यह भी देश के लोगो को नागवार गुजरता है। देश के लोग तो चाहते है कि इसका छीण़ हो गया चेहरा व सेहत , जो निर्दोषो के खून से सना है सामने आना ही चाहिये।
www.000webhost.com

कृपया अपनी प्रतिक्रिया sahityasudha2016@gmail.com पर भेजें