Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 1, अंक13, मई(द्वितीय), 2017



सोंच समझकर कदम उठाये

प्रिया देवांगन "प्रियू"


   आजकल लड़कियाँ जितनी उच्च शिक्षित होते जा रही है, उतने ही उसके विचार में परिवर्तन आते जा रहा है ।यह स्वाभाविक ही है।बदलते युग के साथ खुद में भी बदलाव लाना बहुत जरूरी है ।लेकिन इतना भी न बदल जाये कि लोग ऊंगली उठाने लगे ।हर कदम सोंच समझकर ही उठाये।

  दोस्ती करना सीखें - दोस्त तो बहुत सारे होते हैं ।लेकिन कुछ खास फ्रेंड भी होना चाहिए ।जिससे हम अपने दिल की बात को शेयर कर सकें ।क्योंकि जब तक हम अपने दिल की बात को शेयर नहीं करेंगे तब तक घूटन महसूस होगी ।इसलिए तो कहा गया है - दिल की बात किसी को बताने से मन हल्का हो जाता है।

  दोस्ती करने से पहले कुछ खास बातें भी ध्यान में रखना चाहिए ।

  जैसे -
(1) किसी से दोस्ती करने से पहले उनके आदत व्यवहार को अच्छी तरह परख लेना चाहिए ।
(2) उनके भी फ्रेंड कौन कौन है, ये भी जान लेना चाहिए ।कहीं गलत लोगों के साथ तो नहीं है ।
(3) जिससे आप दोस्ती कर रहे हैं, वो आपके बारे में क्या सोंचते हैं ।यह भी जान लेना जरूरी है ।
(4) दोस्त को हमेशा वफादार होना चाहिए ।


  समय का ध्यान रखे -

  आज के इस युग में लड़कियाँ भी स्वच्छंद रहना चाहती है ।वह हमेशा दोस्तों के साथ खाना पीना और घूमना चहती है ।यह अच्छी बात है ।लेकिन समय का भी ध्यान रखना चाहिए ।ज्यादा देर रात तक घूमना नहीं चाहिए ।घर से बाहर इतनी ही देर तक रहे जिससे घर के सदस्यों को किसी भी प्रकार की तकलीफ न हो ।या कुछ कहने का अवसर न पड़े ।

  हंसी मजाक की सीमा हो ---
  हंसी मजाक जीवन का एक अहं हिस्सा है ।हर कोई अपने दोस्तों के साथ करते हैं ।लेकिन खासकर लड़कियों को संयमित होकर करना चाहिए ।
  ज्यादा जोर जोर से ऊंची आवाज में बात नहीं करना चाहिए ।
  ऊंची आवाज में बात करने से एक तो दूसरे को डिस्टर्ब होगा और दूसरी बात लोग आपकी बातों को सुनकर अलग अर्थ लगाने लग जाते हैं ।
  हंसी मजाक भी इस तरह से करना चाहिए ताकि किसी को बुरा न लगे।

  बुराई से बचें -

  कई लड़कियाँ हमेशा एक दूसरे की बुराई करती रहती है ।यह अच्छी बात नहीं है ।इससे खुद का इमेज खराब होता है।इसलिए हमेशा बुराई से बचना चाहिए और एक सकारात्मक सोंच रखना चाहिए ।

  इससे आपका इमेज बढ़ेगा ।

www.000webhost.com

कृपया अपनी प्रतिक्रिया sahityasudha2016@gmail.com पर भेजें