Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 39, जून(द्वितीय), 2018



आओ चले स्कूल हम..........


उमाशंकर सैनी


                                    
आओ चले स्कूल हम ।
लेकर के नन्हें फूल हम॥

छोट्टे छोट्टे बच्चे देखो॥
रंग बिरंगे लग रहे॥

माता-पिता के साथ है जाते।
गोद मे कोई पग-पग जाते॥

नया नया टिफिन बॉक्स लाते।
बड़े चाव से उसमे खाते ॥

स्कूल से है जब घर आते।
सारा घर सर पर उठाते॥

आओ चले स्कूल हम ।
लेकर नन्हें फूल हम॥

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें