Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 40, जुलाई(प्रथम), 2018



प्रेरणा-पुरस्कार


राजीव कुमार


दर्शकों से खचाखच भरा हाल। पुरस्कार वितरण समारोह में उपस्थित अतिथि एवं खिलाड़ीगण। समारोह के लिए सजाया गया मंच और हाल।

दर्शकों की भीड़ में बैठी एक किशोरी, सीधी-सादी शर्मिली-सी, दर्शकों के साथ ताली बजा रही है। ताली बजाते-बजाते उसकी आंखें नम हो जाती हैं। खुशी के मारे जब बहुत देर तक ताली बजाती रही तो बगल में बैठी वृद्ध महिला ने कहा, ‘‘तुम तो सबको डिस्टर्ब कर रही हो। जब तक सारे लोग तालियां बजाएंगे, तभी तक बजाओ।’’

स्वर्ण पदक, रजत पदक की घोषणा हो जाने के बाद भी वह लड़की देर तक ताली बजाती रही तो वृद्ध महिला के अलावा किसी ने भी उस पर ध्यान नहीं दिया। वृद्ध महिला उसकी तरफ घूरती, खा जाने वाली नजरों से देखती रही।

वृद्ध महिला ने मन ही मन सोचा कि कैसी ढीठ लड़की है, बड़ों की बातों का आदर करना ही नहीं जानती है। वह लड़की ताली बजाती ही रही।

पुरस्कार वितरण समारोह खत्म हो जाने के बाद जब वह लड़की खोई-खोई सी हाॅल से बाहर निकली तो मेन गेट के पास खड़ी उस वृद्ध महिला ने उसको सचेतन किया और पूछा, ‘‘सारे खिलाड़ियों को अपने प्रदर्शन के हिसाब से पुरस्कार मिला। किसी को स्वर्ण, किसी को रजत तो किसी को कांस्य पदक मिला। तुमने जो इतनी देर तक ताली बजाकर अपनी कलाइयों में दर्द उठवाया तो तुमको क्या मिला? और सबको डिस्टर्ब भी किया।’’

दरअसल वृद्ध महिला के खिन्न होने का कारण था उनका ऊंचा सुनना और उद्घोषक की आवाज को स्पष्ट नहीं सुन पाना।

उस लड़की ने जवाब दिया, ‘‘दादी जी, बेशक सबको अपने प्रदर्शन के हिसाब से पुरस्कार मिले हैं। उनको पुरस्कार ग्रहण करते हुए सभी ने देखा और तालियां भी बजाईं।’’

उस लड़की के चेहरे पर आत्मविश्वास की रेखा स्पष्ट उभर आई और उसने चिल्लाकर कहा, ‘‘लेकिन हमको मिला है प्रेरणा-पुरस्कार, जिसके बगैर किसी को भी कोई पुरस्कार नहीं मिला होगा। आज मैं यहां से प्रेरणा-पुरस्कार लेकर जा रही हूं। और एक दिन सबके लिए प्रेरणा बनूंगी।’’

उसकी बातों को सुनकर जमा हो गई भीड़ तालियां बजाकर उसकी हौसला अफजाई करती है।

अपनी कड़ी मेहनत, लंबा संघर्ष और धैर्य के बल पर वह लड़की ‘भावना’ ने देश का नाम पूरी दुनिया में रोशन किया। खेल जगत् में विशिष्ट हस्ती बनकर उभरी और सबके लिए प्रेरणास्रोत बनी।


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें