Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 24, नवम्बर(प्रथम), 2017



बोलो ?


संजीव ठाकुर


 
आखिर कब खत्म होगा 
एक हाथ से
रोटी बेलने का प्रयास ?

भांथी दिए बगैर 
निकला है सुर 
हारमोनियम से ?



www.000webhost.com

कृपया अपनी प्रतिक्रिया sahityasudha2016@gmail.com पर भेजें