Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 1, अंक 9, मार्च, 2017



सुनो भाई साधो

डॉ प्रखर दीक्षित

आऑ सब हिल मिलकर मतदान करें।
अगडे, पिछडों वंचित का आवाहन करें।।

रंग जाति मजहब दीवारें घातक हैं, ये
सोचें परखें "इनको "बस ईमान करें।।

यह लोकतंत्र का परम पावनी पर्व बड़ा
लोकतंत्र आधार वोट गुणगान करें।।

रोना होगा पांच साल तक गर चुके तो
मताधिकार भुजदण्ड तहेदिल मान करें।।

निर्वाचन की हवि बेदी में स्व समिधा से
प्रखर अक़्ल से योग्य संग्य को मतदान करें।।
www.000webhost.com

कृपया अपनी प्रतिक्रिया sahityasudha2016@gmail.com पर भेजें