Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 29, जनवरी(द्वितीय), 2018



क्यों उपेक्षित हैं


डॉ. दिनेश त्रिपाठी ‘शम्स’


 


क्यों उपेक्षित हैं हमारी प्रार्थनाएं ,
देवता इस प्रश्न का उत्तर बताएँ |

आपको उनसे निराशा ही मिलेगी ,
मत तलाशें इस कदर संभावनाएँ |

लग गयी हैं स्वार्थ के झोकों से हिलने ,
सिर्फ खूंटी पर टंगी हैं आस्थाएँ |

कुछ हमारे मौन का भी अर्थ समझें ,
हो नहीं पाती मुखर कुछ भावनाएँ |

अब हमारे देश में है लोकशाही ,
आइये इस चुटकुले पर मुस्कुराएँ |

जब किया है प्यार का बेशर्त सौदा ,
फिर नफ़ा नुकसान क्या जोड़े-घटाएँ |


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें

www.000webhost.com