Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 29, जनवरी(द्वितीय), 2018



दूरियां इस कदर बड़ी मत कर


डॉ. दिनेश त्रिपाठी ‘शम्स’


 


दूरियां इस कदर बड़ी मत कर ,
बीच अपने अना खड़ी मत कर |

पल दो पल को ज़रा ठहर भी जा ,
खुद को इस तरह से घड़ी मत कर |

ख्वाहिशों का सिरा नहीं कोई ,
बेसबब ख्वाहिशें बड़ी मत कर |

तू जले और सबके सब खुश हों ,
इस तरह खुद को फुलझड़ी मत कर |

प्यार में शर्त तो गवारा है ,
शर्त को यार हथकड़ी मत कर |



कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें

www.000webhost.com