Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 28, जनवरी(प्रथम), 2018



हर मुश्किल सफ़र आसान होगा


यूसुफ़ रईस


 

अगर  इस  क़ल्ब में ईमान  होगा 
तो हर मुश्किल सफ़र आसान होगा।

जो मेरी हार पर अफ़सोस में है
वो  मेरी  जीत पर  हैरान  होगा ।

सियासत से हमें महफ़ूज रक्खो 
तुम्हारा मुल्क़ पर अहसान होगा ।

अकेले भी सफ़र करना है मुश्किल 
कि  रस्ता दूर  तक  वीरान  होगा ।

मैं जिस दिन ख़ुद से ख़ुद को हार बैठा
तुम्हारी  जीत का  ऐलान  होगा ।

वो मेरे हाल से वाक़िफ़ है लेकिन 
मिलेगा  तो  बहुत  हैरान  होगा ।

अगर चलती रही फिरक़ा-परस्ती 
तो फिर दोनों तरफ नुकसान होगा ।

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें

www.000webhost.com