Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 27, दिसम्बर(द्वितीय), 2017



मुस्कुरा देंगे

अनिरुद्ध सिन्हा


 
ज़ख्म खाकर  भी मुस्कुरा देंगे 
वक़्त  को  आइना  दिखा देंगे 

दोस्त खुद को ज़रा बदल पहले 
तेरी चौखट  पे सर  झुका देंगे

अपना सब कुछ तो दे दिया हमने 
ज़िन्दगी  तुझको और क्या  देंगे

ये जो  क़दमों  के हैं निशां यारो
मंज़िलों   का  यही  पता  देंगे 

हम तो जुगनू हैं जल बुझेंगे मगर 
आनेवालों   को   रास्ता   देंगे  
www.000webhost.com

कृपया अपनी प्रतिक्रिया sahityasudha2016@gmail.com पर भेजें