Sahityasudha view

साहित्यसुधा


साहित्यकारों की वेबपत्रिका

साहित्य की रचनास्थली


वर्ष: 3, अंक 45, सितम्बर (द्वितीय), 2018

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुनर्प्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्यसुधा में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्यसुधा टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।

साहित्यसुधा एक सम्पूर्णतः साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य सभी रचनाकारों को प्रोत्साहित करके हिंदी को बढ़ावा  देना है | इसके माध्यम से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा। साहित्यसुधा

सम्पादकीय मंडल:-
सम्पादक - डॉ०अनिल चड्डा
सह-सम्पादक - अखिल भंडारी


साहित्यिक समाचार
"साहित्य अर्पण '' एक पहल

"साहित्य अर्पण '' एक पहल के बैनर तले 31/08/2018 को गाँधी आर्ट गैलरी,नई दिल्ली में कवि सम्मेलन का आगाज़ विशिष्ट अतिथि आo संजीव कुमार जी (सामाजिक कार्यकर्ता,दिल्ली) और आo उदित त्यागी जी(रंगमंच के कलाकार,दिल्ली) ने अपने करकमलों द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया।सरस्वती वंदना का आo सुधीर शर्मा जी(.............दिल्ली) ने अपने मुखारबिंदु से पाठन करके महफ़िल को इंद्रधनुषी रंगों से रंगीन किया। इतना ही नहीं कार्यक्रम के संचालक आo मोहित मुदिता द्विवेदी(The modern poets के सूत्रधार, दिल्ली) ने मंच का संचालन बेहतरीन ढंग से करके तहलका मचा दिया। वहीं आ o राजीव ऋषि जी(प्रोफेसर हिन्दू कॉलेज)का (Once lost .....forever) का विमोचन सभा में उपस्थित विशिष्ट अतिथियों ने अपने करकमलों से किया।....

....पूरा पढ़ें



सूचना
सुदर्शन कुमार सोनी






लिस्बन विश्वविद्यालय के भारतीय अध्ययन केंद्र, कला-संकाय और भाषाविज्ञान केंद्र द्वारा भारतीय सांस्कृतिक संवर्धन परिषद (आई.सी.सी.आर.) और भारतीय दूतावास के सहयोग से दूसरी / विदेशी भाषा के रूप में हिंदी के पठन-पाठन को ध्यान में रखते हुए लिस्बन, पुर्तगाल में अंतराष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है I जिसमें हिंदी को विदेशी भाषा या द्वितीय भाषा के रूप में अध्यन करने और सीखने सिखाने के आयामों पर चर्चा को बढ़ावा दिया जाएगा I इस सम्मेलन का मुख्य उदेश्य यूरोप और उसके बाहर हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार करने वाले केन्द्रों के विस्तार और उनके बीच सम्पर्क स्थापित करने के साथ-साथ हिंदी भाषा के शिक्षण में भाषाई विविधता वाले क्षेत्रों में आने वाली चुनौतियों का समाधान ढूँढने पर बल देना है I इसके अलावा हिंदी भाषा को द्वितीय भाषा के रूप में पठन-पाठन से सम्बंधित क्षेत्र में शोध करने के लिए भी प्रेरित करना है I....

....पूरा पढ़ें






जानें अपनी प्रसन्नता को कैसे बढायें -
पढ़ें डॉ० अशकान फरहादी द्वारा रचित एवँ डॉ० अनिल चड्डा एवँ अन्य द्वारा अनुवादित पुस्तक का 11वाँ भाग
"प्रसन्नता का विकास"


हम अपनी सफलता का दावा कैसे कर सकते हैं
सम्पादक की ओर से
"जागता स्वप्न"

मैं उठा था आज फिर,
उम्मीद ले कर आँख में,
हो गया लेकिन ये क्या,
तिनका गिरा इक आँख में!

		उगते सूरज की किरण को,
		छूना चाहा प्यार से,
		आग पल में बन गई,
		और चौंध छाई आँख में!

चल पड़ा फिर भी मगर,
मैं आस ले कर साँस में,
चाल में इक जोश ले,
विश्वास ले कर आँख में!

		पथ सभी ऐसे मिले कि,
		धूल जम गई पलकों में,
		मोड़ कई ऐसे मिले कि,
		मोच आई पाँव में!

कोने-कोने में मिले,
इतने बड़े संसार में,
मर रहे कुछ भूख से,
कुछ प्रीत के अभाव में!

		मतलबों की आँधी में,
		क्यों आदमी को आदमी,
		नोच कर है खा रहा,
		ओ गाँधी तेरे गाँव में!

अब कहाँ वो शिष्य हैं,
अब वो गुरु मिलते कहाँ,
काट कर अंगूठा दें,
बिन उफ़ के, औ’ बिन आह के!

		किस राह को पकडूँ बता,
		किस मोड़ पर विश्राम लूँ,
		मोल लेने लग पड़ा,
		अब पेड़ अपनी छाँव के!

लौट कर फिर आया हूँ,
मैं रात के आगोश में, 
सपनों की दुनिया में खो,
सब ढूँढने की चाह में!



     - डॉ० अनिल चड्डा
अब तक.......


कविता  |  कहानी  |  लघु-कथा  |  आलेख  |   व्यंग्य  | गीत अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  लेखक परिचय  | 
ग़ज़लें   | हाइकु   |  हिन्दी ब्लॉग  |  दोहे | नज़्में  | पुस्तक समीक्षा  |पुराने अंक| हास्य-कविता |
बच्चों का कोना|

आपके पत्र


fareedrizvi001@gmail.com

वो सुने न सुने अब दिल की दास्तां,
हमें खुद को सुनाना खूब आता है।
ख़ूब कहा......

Shyam Snehi (snehishyam@gmail.com)

साहित्य के हर विधाओं पर संग्रहनीय सामग्रियों को संयोजित करने की बेमिशाल कला को नमन।

opkshatriya@gmail.com

इस बार का अंक सभी विधाओं को समेटा गया है. अंक की साजसज्जा उम्दा है. पूरी टीम को हार्दिक बधाई .

सविता अग्रवाल "सवि"(केनेडा )

प्रिय अनिल जी नमस्ते पिछले करीब एक माह से कनाडा से बाहर थी समय नहीं मिल पाया |आज अगस्त द्वितीय अंक पत्रिका पढ़ी आपके द्वारा रचित "हंसी कहाँ से आयेगी" और शुची "भवि " की "रक्षा बंधन" नामक मार्मिक कहानी पढ़कर मन भावुक हो गया आप दोनों को बहुत बहुत बधाई |
धन्यवाद
सादर
सविता अग्रवाल "सवि"(केनेडा )

शशांक मिश्रा

बहुत सुंदर व पठनीय अंक बधाई
ओम प्रकाश क्षत्रिय

साहित्य सुधा के अंक में संजौई गई साहित्यिक सामग्री बहुत उम्दा है. पत्रिका की साजसज्जा व संयोजन पत्रिका के नाम अनुरूप पाठकों की सुधा बढ़ाने वाला व आकर्षक हैं.हार्दिक बधाई पूरी पत्रिका टीम को.

राजपाल गुलिया
rajpalgulia1964@gmail.com


साहित्यसुधा के अगस्त( द्वितीय )2018 अंक में डॉक्टर अनिल चड्डा जी की कविताएं , नज़्म ' जिन्दगी बेगानी सी लगती है ' व गीत " हँसी कहाँ से आएगी अच्छी लगी ! रमेश शर्मा के दोहे , डॉक्टर प्रमोद सोनवानी " पुष्प " का बालगीत व डॉक्टर सुभद्रा खुराना का गीत अच्छा लगा ! एक अच्छे अंक की बधाई स्वीकारें !

कमला घटाऔरा

मान्य सम्पादक जी ,
अगस्त द्वितीय अंक मिला ।गीत गजल,कवितायें लघु कथा कहानी सभी अच्छी लगी ।एकवादा - देश पहल ,कहानी सोचने को विवश करती है हमारे फौजी जो सीमायों पर देश रक्षा हित अनेक कष्टों से गुजरते हैं ।उनके रिटायर होकर घर आ कर रहने पर उनके प्रति हमारे मन में जो मान सम्मान होना चाहिये ,उन्हें नहीं मिलता ।देश वासी उनके प्रति वेरूखे रहते हैं ।कहानी कड़वा सच बयान करती है ।और भी समसायमिक विषय पर लिखी कवितायें प्रभाव शाली हैं ।सुधा भार्गव का संस्मरण बहुत रोचक रहा ।
डॉ. अनिल जी का गीत -शीशे सा था वतन मेरा , बहुत अच्छा लगा ।
‘भयभीत मन ‘ कहानी में सम्भावित समस्या को उठाया गया है । जो हर तरफ से कन्या की सुरक्षा के प्रश्न से जुड़ी है ।यह दरशाती है कन्या की माँ को कन्या के आने से पहले ही सचेत रहना होगा । इसबार पत्रिका काफी रोचक रही ।

इस अंक में
कवितायेँ


1.आशीष वैरागी -

(i)माँ फोन उठा लो
(ii)तनहाइयाँ

2.अजय अज्ञात -

(i)ढूंढते हैं
(ii)वतन की जान है हिन्दी

3.डा0 अमिता तिवारी -

(i)युद्ध के विरुद्ध

4.डॉ०अनिल चड्डा -

(i)प्रथा

5.अपर्णा झा -

(i)सोच, आसमान की उड़ान में

6.कवि चंद्र मोहन किस्कू -

(i)पेट की आग

7.गरिमा -

(i)सब सूना हो जाएगा

8.हरदीप सभरवाल -

(i)और कितने दूर्योधन
(ii)शोर



9.कवि जसवंत लाल खटीक -

(i)सुन कान्हा ...

10.कुन्दन कुमार -

(i)स्वप्न समर

11.महेन्द्र देवांगन "माटी" -

(i)प्रेम
(ii)अच्छा स्वास्थ्य

12.पवनेष ठकुराठी ‘पवन’ -

(i)14 सितंबर (हिंदी दिवस) पर विशेष:
 5 कविताएँ


13.पीताम्बर दास सराफ "रंक" -

(i)रोती लड़की

14.डॉ प्रदीप उपाध्याय -

(i)या फिर

15.राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित" -

(i)चुनावी चौका
(ii)सैनिक



16.रश्मि सिंह -

(i)अक्स
(ii)अन्तरात्मा का झूठ जीत गया
(iii)सख्त निवेदन

17.रवीन्द्र दास -

(i)इतिहास बाह्य
(ii)ख़्वाहिश
(iii)पिता और समय

18.शम्भु प्रसाद भट्ट'स्नेहिल' -

(i)भारतीयता की पहिचान (हिन्दी)

19.सुशील कुमार शर्मा -

(i)अंतस
(ii)देह से इतर
(iii)वो कविता

20.तारकेश कुमार ओझा -

(i) दास्तां सुन कर क्या करोगे दोस्तो ...!!

21.पुष्पा मेहरा -

(i) निर्बंध दर्द

22.उमाशंकर सैनी -

(i) हिन्दी दिवस पर बधाई.......

गीत, गज़ल, इत्यादि


ग़ज़लें

1. बृजेश पाण्डेय 'बृजकिशोर' -

(i)हिन्दी गजल

2. नरेन्द्र श्रीवास्तव -

(i)जीवन में संघर्ष अनेक

बच्चों का कोना


1. आरुषि बत्रा -

(i)राक्षस(लघुकथा)

2. डॉ. प्रमोद सोनवानी ‘पुष्प’ -

(i)घड़ी
(ii)तितली रानी



नज़्में


1.डॉ०अनिल चड्डा

(i)गमों से निभा लो यारो

2.वर्षा वार्ष्णेय -

(i)भगवान नहीं मिलता

गीत





हाइकु


1. नवीन कुमारभट्ट -

(i)चिंतन
(ii)दीपक

2. शुचि 'भवि' -

(i)बदरा आए...

दोहे

1. अर्जित पाण्डेय -

(i)समता प्रभुता सब मिले...

आलेख, कहानियाँ, व्यंग्य, इत्यादि
लघुकथायें


1.डॉ. चंद्रेश कुमार छतलानी -

(i)मैच फिक्सिंग

2.जयश्री रॉय -

(i)औरत

3.राजन कुमार -

(i)बोझ

4.विश्वम्भर पाण्डेय 'व्यग्र' -

(i)रक्षा-बंधन

पुस्तक समीक्षा


1.प्रो० शरद नारायण खरे (समीक्षक)


राजपाल सिंह गुलिया(लेखक) -

(i)उठने लगे सवाल(दोहा संग्रह)

कहानियाँ


1.अर्विना गहलोत -

(i)अभिलाषा

2.डॉ दिग्विजय शर्मा "द्रोण" -

(i)शौक की जिन्दगी

3.पवनेष ठकुराठी ‘पवन’ -

(i)वह शाम

हास्य-नाटक


1.दिनेश चन्द्र पुरोहित -

(i)"दबिस्तान-ए-सियासत"(अंक आठ)


व्यंग्य


1. स्नेही "श्याम" -

-

(i)कलियुगी कृष्ण

2. सुशील यादव -

-

(i)पत्नी का अविश्वास प्रस्ताव



धारावाहिक उपन्यास


1. प्रबोध गोविल -

(i)पढ़ें प्रबोध गोविल का
 धारावाहिक उपन्यास 'अकाब'
 का दसवाँ अध्याय


2. संतोष श्रीवास्तव -

(i)पढ़ें संतोष श्रीवास्तव
 के धारावाहिक उपन्यास
 "लौट आओ दीपशिखा"
 का अगला भाग


संस्मरण



आलेख

1.अजय एहसास
-

(i)युवाओं के गिरते नैतिक मूल्य का कारण

2.राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित"
-

(i)आधुनिक भारत के निर्माता:-
 भारत रत्न एम. विश्वेश्वरैया


3.सुशील कुमार शर्मा -

(i)आज़ादी के पूर्व साहित्य
 में देशभक्ति की भावना

(ii)प्रेम गली अति सांकरी

अनूदित साहित्य


1.डॉ०अनिल चड्डा -

(...गतांक से)डॉ० रिक लिंडल द्वारा
रचित अंग्रेजी पुस्तक
'The Purpose' का
डॉ० अनिल चड्डा
द्वारा हिंदी अनुवाद
- पढ़ें "अध्याय 8 का अगला भाग"[सर्वश्रेष्ठ नाट्यशाला]


2.डॉ.रजनीकान्त एस.शाह -

(i) मलयानिल की गुजराती कहानी "ग्वालिन" का हिंदी अनुवाद

पुस्तकें

होनहार हैं हम बच्चे:
भविष्य की धरोहर हम बच्चे
(बच्चों की कवितायेँ)

मन की बातें जग भी जाने

कुछ ज्ञात कुछ अज्ञात
(कविता संग्रह)


बदलते रिश्तों का समीकरण
लेखिका - रोली अभिलाषा

कृपया रचनाओं पर अपनी टिप्पणी भेजें!

आपका ई-मेल पता :
आपका नाम:
टिप्पणी:
 
कृपया अपनी रचनाएँ,जो मौलिक होनी चाहिए और यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हों, निम्नलिखित
ई-मेल पर भेजें :-

sahityasudha2016@gmail.com
[यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर के लिये इस लिंक पर क्लिक करें]

गोपनीयता नीति

कुछ अन्य साहित्यिक वेबपत्रिकाएँ

 1.साहित्यकुंज
 2.अनुभूति
 3.काव्यालय
 4.लघुकथा.com
 5.साहित्यसरिता
 6.हिन्दी नेस्ट
 6.सृजनगाथा
 7.कृत्या
 8.हिन्दी हाइकु
 9.सेतु साहित्य

"साहित्यसुधा को सब्सक्राइब करें"

सहित्यसुधा की सूचना पाने के लिये कृपया अपना ई-मेल पता भेजें 
www.000webhost.com