Sahityasudha view

साहित्यसुधा


साहित्यकारों की वेबपत्रिका

साहित्य की रचनास्थली


वर्ष: 3, अंक 47, अक्टूबर(द्वितीय), 2018

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुनर्प्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्यसुधा में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्यसुधा टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।

साहित्यसुधा एक सम्पूर्णतः साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य सभी रचनाकारों को प्रोत्साहित करके हिंदी को बढ़ावा  देना है | इसके माध्यम से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा। साहित्यसुधा

सम्पादकीय मंडल:-
सम्पादक - डॉ०अनिल चड्डा
सह-सम्पादक - अखिल भंडारी


साहित्यिक समाचार
*साहित्य संघ का सृजन सम्मान समारोह जबलपुर में 28,अक्टूबर को*


भवानीमंडी:- साहित्य संगम संस्थान दिल्ली की मध्यप्रदेश शाखा ,विश्ववाणी संस्थान, समन्वय प्रकाशन के संयुक्त तत्वाधान में 28 अक्टूबर रविवार को जबलपुर मध्यप्रदेश में साहित्य संघ का सृजन सम्मान समारोह आयोजित किया जाएगा।.....

....पूरा पढ़ें



*भवानीमंडी के साहित्यकार राजेश पुरोहित होंगे राष्ट्रीय स्टार डायमंड अचीवर्स अवॉर्ड से सम्मानित*


भवानीमंडी:-यूथ वर्ल्ड सोशल समूह द्वारा 22 व 23 अक्टूबर को मरु नगरी बीकानेर में यूथ वर्ल्ड सोशल मीडिया मैत्री सम्मेलन 2018 बीकानेर के वेटनरी सभागार में होगा । राष्ट्रीय स्टार डायमंड अचीवर्स अवार्ड समारोह के इस भव्य आयोजन में भवानीमंडी के कवि साहित्यकार राजेश कुमार शर्मा पुरोहित को राष्ट्रीय स्टार अचीवर्स अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। ......

....पूरा पढ़ें



काव्यांकुर 6 का लोकार्पण इंडिया हैबिटेट सेंटर में हुआ

हिंदुस्तान के वरिष्ठ साहित्यकार श्री बालस्वरूप राही मुख्य अतिथि रहे एवं विशिष्ट अतिथियों में श्री महेश चन्द्र शर्मा, श्री दीक्षित दनकौरी, डा. बी एल गौड़, डा. देवेन्द्र प्रधान एवं श्री राम अवतार बैरवा रहे !

इंडिया हेबिटेट सैंटर, लोधी रोड मे कल शाम नवांकुर साहित्य सभा का षष्टम काव्यांकुर काव्य-संध्या एवं साझा संकलन का लोकार्पण समारोह आयोजित किया गया l मंच पर आसीन अतिथियों में बालस्वरूप राही, महेश चन्द्र शर्मा, दीक्षित दनकौरी, डा. बी एल गौड़, डा. देवेन्द्र प्रधान एवं राम अवतार बैरवा रहे l विशेष अतिथियों में विनय शील, सरोज शर्मा, कमलेश कौशिक व संध्या प्रहलाद रहीं l 'नवान्कुर साहित्य सभा' के अध्यक्ष, अशोक कश्यप, महासचिव, काली शंकर सौम्य एवं कोषाध्यक्ष इमरान अँसारी ने आये मुख्य अतिथियों का स्वागत सम्मान किया।......

....पूरा पढ़ें




जानें अपनी प्रसन्नता को कैसे बढायें -
पढ़ें डॉ० अशकान फरहादी द्वारा रचित एवँ डॉ० अनिल चड्डा एवँ अन्य द्वारा अनुवादित पुस्तक का 11वाँ भाग
"प्रसन्नता का विकास"


जानकारी, स्पष्टता और परिकल्पना में परस्पर सम्बन्ध
सम्पादक की ओर से
"बदलते आदर्श"
(1)
मैं
इसी भारत में
सहस्त्रों भरत पैदा कर दूँ
कहीं से
राम तो ढूंढ कर लाओ
मैं घर-घर में
सीता दिखला दूँ
कोई राम तो दिखाओ

(2)

हे राम
यकीनन तुम भगवान न थे
कुंठित समाज़ की
कठपुतली - मात्र इन्सान थे
तभी तो
आदर्शों की होली में
झोंक दिया था
सीता का तन
केवल लांछन से
छोड़ दिया
भटकने को बन-बन
यह तो सोचा होता
कल कौन बनेगी सीता
जिसे केवल
अहंतुष्टि के लिये
यूँ ही जलना पड़े
बन-बन भटकना पड़े
धरती का ग्रास बनना पड़े
राम, तुम तो राम ही रहे
सीता ही रही न सीता

(3)

और द्रोण
तुम्ही ने तो
आदर्शों का
अंगूठा था काटा
तभी तो
शत-शत आदर्श
बाण बन
बिछौना बने थे
भीष्म का
     - डॉ० अनिल चड्डा
अब तक.......


कविता  |  कहानी  |  लघु-कथा  |  आलेख  |   व्यंग्य  | गीत अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  लेखक परिचय  | 
ग़ज़लें   | हाइकु   |  हिन्दी ब्लॉग  |  दोहे | नज़्में  | पुस्तक समीक्षा  |पुराने अंक| हास्य-कविता |
बच्चों का कोना|

आपके पत्र


shridhargovind@gmail.com

Patrika bahut hi achchi hai.
sadprayas ke liye hirdik abhinandan.

manjurani2015@gmail.com

bahut sundr kaam kiya ja rha h .badhai

Tanu srivastava lko@gmail.com

पहली बार पढ़ा अंक। बहुत अच्छा लगा,,संस्मरण ,,,मंडप के नीचे,, कविता ,
मन्नत के धागें,,,कहानी,,,,अभिनय कविताएं,,,, डर लगता है,
प्रकृति गीत,,प्रभवशाली है बधाई रचनाकारों को,
और समपदक महोदय को

neelam11052014@gmail

मान्यवर सम्पादक जी

सादर प्रणाम।

साहित्य सुधा का अगस्त अंक पढा,कहानी,कविता ,हास्य व्यंग्य, राजपाल
गुलिया जी का दोहा संग्रह उठने लगे सवाल बहुत पसंद आये। अंक पढ़कर
गदगद हो गए।

xx xx xx

सम्पादक जी

सादर प्रणाम।

सितम्बर द्वितीय अंक में आपकी रचना जागता स्वप्न
बहुत पसंद आई।

महावीर उत्तरांचली

वाह! वाह! क्या बात है अजय भाई। अति उत्तम :—

सरल है व्याकरण इसका,सरल है लिखने पढ़ने में
करें हम काम हिन्दी में,बहुत आसान है हिन्दी ॥

सविता अग्रवाल "सवि" कैनेडा

डॉ अनिल जी |
बहुत बहुत धन्यवाद | सितम्बर द्वीतीय अंक प्राप्त हुआ | आपके द्वारा रचित 'जागता स्वप्न" गरिमा जी द्वारा रचित "सब सूना हो जाएगा ", पीताम्बर सराफ "रैंक" द्वारा रचित "रोती लड़की" , सुशील शर्मा जी की "अंतस" , शुची भवि जी के भावपूर्ण हाइकु और कवि राजेश पुरोहित जी की "चुनावी चौका" नामक रचना पढ़कर बहुत अच्छा लगा सभी रचना कारों की कलम इसी प्रकार चलती रहे |अनेक शुभकामनाएं |
सादर

fareedrizvi001@gmail.com

वो सुने न सुने अब दिल की दास्तां,
हमें खुद को सुनाना खूब आता है।
ख़ूब कहा......

इस अंक में
कवितायेँ


1.डॉ०अनिल चड्डा -

(i)चलता रहता है संसार

2.बृजराज किशोर 'राहगीर' -

(i)बेटियाँ'

3.देवेन्द्र कुमार राय -

(i)पूजा और पुजारी

4.गरिमा -

(i)जीवन पानी का बुलबुला

5.गोपेश आर शुक्ला -

(i)तन्हाईयाँ

6.कवि जसवंत लाल खटीक -

(i)बापू हुए उदास

7.कुन्दन कुमार -

(i)वक्त का निमंत्रण



8.लवनीत मिश्र -

(i)सखा कृष्ण
(ii)सूरदास

9.डॉ० नवीन दवे मनावत -

(i)दर्प

10.नीतू शर्मा -

(i)रावण

11.डॉ. प्रणव भारती -

(i)विवशता

12.प्रिया देवांगन "प्रियू" -

(i)नवरात्रि

13.पुष्पा मेहरा -

(i)हे माँ दुर्गे

14.राजेश भंडारी “बाबु “ -

(i)पति का जीवन बचाती बीबी
(ii)फिर भले मत करजे तू सराद



15.रंजन कुमार प्रसाद -

(i)कपटी पुरुष

16.रवि प्रभात -

(i)कौन हो तुम

17.शम्भु प्रसाद भट्ट'स्नेहिल' -

(i)हिन्दी भाषा की दशा व दिशा

18.शशांक मिश्र -

(i)बिना विचारे का फल(पद्यकथा)

19.डॉ. सुभद्रा खुराना -

(i)अपना_कर्म_साथ_में_अपने,

20.विनय कमलेश्वर अग्रहरि -

(i)प्रेम का पाठ

21.विश्वम्भर पाण्डेय 'व्यग्र' -

(i)इस युग की कहानी...

गीत, गज़ल, इत्यादि


ग़ज़लें

1. अनिल "मानव" -

(i)हमेशा दिल दुखाया है
(ii)मैं तो कोई गिला नही करता

2.महाराजा जीलानी -

(i)सज़ा दीजिये

3. नरेन्द्र श्रीवास्तव -

(i)नहीं हौसला खोना यारो

4. पीताम्बर दास सराफ "रंक" -

(i)यह देश है हमारा

बच्चों का कोना


1. काशवी दता -

(i)पिकनिक(बालकहानी)

2. डॉ. प्रमोद सोनवानी ‘पुष्प’ -

(i)हमारी गाय
(ii)पुस्तक पढ़ना है
(iii)विजयादशमी



नज़्में


1.डॉ०अनिल चड्डा

(i)बच कर रहना

2.आशा शैली


(i)रखो अपने लिए

3.गोपेश आर शुक्ला

(i)नज़ारा न छीनिये

4.नवीन कुमारभट्ट

(i)गुलाब
(ii)गुलाब के दिलों की वेदना

5.पुष्पा मेहरा

(i)सच करके दिखा दें

गीत


1.डॉ०अनिल चड्डा

(i)आओ दर्द को मीत बनाएँ

2. बृजराज किशोर 'राहगीर' -

(i)सूरज मेरे आँगन उतरा है



हाइकु


1. अशोक कुमार ढोरिया -

(i)प्रदूषण से
 होता जीवन नष्ट ...


दोहे

1.डॉ०अनिल चड्डा

(i)क्षमा ब्रह्म अस्त्र है

2.महेन्द्र देवांगन "माटी" -

(i)पर्यावरण बचाओ

3. डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" -

(i)पितृपक्ष में कीजिए,
 वन्दन-पूजा-जाप


छंद

1. महेन्द्र देवांगन "माटी" -

(i)जय माता रानी ( ताटंक छंद)

2. सुशील कुमार शर्मा -

(i)लोटक छंद

आलेख, कहानियाँ, व्यंग्य, इत्यादि
लघुकथायें


1.चंद्रेश कुमार छतलानी -

(i)दुरुपयोग

2.महेश चंद्र द्विवेदी -

(i)घर से घाट तक

3.राजीव कुमार -

(i)रोग-प्रतिरोधक

4.राम प्रकाश सक्सेना (डॉ.) -

(i)चोरी चॉक की
(ii)नीची जाति के ऊँचे लोग

पुस्तक समीक्षा


1.पीयूष कुमार द्विवेदी 'पूतू'

-

(i)बाल मन का दर्पण 'आपका बंटी'

कहानियाँ


1.जनकदेव जनक -

(i)कोख का मोती

2.तुलसी तिवारी -

(i)काक चेष्टा

हास्य-नाटक


1.दिनेश चन्द्र पुरोहित -

(i)"दबिस्तान-ए-सियासत"(अंक दस)


व्यंग्य


1.राजेश भंडारी “बाबु “ -

(i)टर्राने का मौसम


2.प्रो. राजेश कुमार -
(i)आपको कब पता चलता है
 कि आप रिटायर हो गए


3.रवि सूदन -
(i)नेता क्यों और कै से बनें?

4.शंकर मुनि रॉय -
(i)नया भारत-महाभारत

धारावाहिक उपन्यास


1. प्रबोध गोविल -

(i)पढ़ें प्रबोध गोविल का
 धारावाहिक उपन्यास
 'अकाब' का बारहवाँ एवं
 अध्याय


2. संतोष श्रीवास्तव -

(i)पढ़ें संतोष श्रीवास्तव
 के धारावाहिक उपन्यास
 "लौट आओ दीपशिखा"
 का अगला भाग


संस्मरण





आलेख

1.घनश्याम बादल
-

(i)गांधी के महान बनने का रहस्य

2.हिमांशु जोनवाल
-

(i)समलैंगिकता: एक नई सोच

3.डाॅं श्रीमती नीना छिब्बर -

(i)करवा चौथ

4.सुशील कुमार शर्मा -

(i)वर्तमान साहित्य में नवोदित
 रचनाकारों का स्थान और स्थिति


अनूदित साहित्य


1.डॉ०अनिल चड्डा -

(...गतांक से)डॉ० रिक लिंडल द्वारा
रचित अंग्रेजी पुस्तक
'The Purpose' का
डॉ० अनिल चड्डा
द्वारा हिंदी अनुवाद
- पढ़ें "अध्याय 9 - क्या पाप आवश्यक है?


2.प्रजापति गुरुदेव -

(i)डॉ० दिलीप मोदी की कविता 'गुब्बारे वाला' का हिंदी अनुवाद

3.डॉ.रजनीकान्त एस.शाह -

(i) श्री किशोर मकवाणा के लेख
"प्रकृति में वेदना है और सम्वेदना भी है"
 का हिंदी अनुवाद

(ii)डॉ.पद्मश्री गुणवन्तभाई शाह के निबन्ध
"सरल मनुष्य अर्थात आधा साधु!" का हिंदी अनुवाद


4.डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" -

(i)बेंजामिन फ्रैंकलिन की कविता
 "DEATH A FISHERMAN"का हिन्दी अनुवाद


पुस्तकें

होनहार हैं हम बच्चे:
भविष्य की धरोहर हम बच्चे
(बच्चों की कवितायेँ)

मन की बातें जग भी जाने

कुछ ज्ञात कुछ अज्ञात
(कविता संग्रह)


बदलते रिश्तों का समीकरण
लेखिका - रोली अभिलाषा

कृपया रचनाओं पर अपनी टिप्पणी भेजें!

आपका ई-मेल पता :
आपका नाम:
टिप्पणी:
 
कृपया अपनी रचनाएँ,जो मौलिक होनी चाहिए और यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हों, निम्नलिखित
ई-मेल पर भेजें :-

sahityasudha2016@gmail.com
[यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें]

गोपनीयता नीति

कुछ अन्य साहित्यिक वेबपत्रिकाएँ

 1.साहित्यकुंज
 2.अनुभूति
 3.काव्यालय
 4.लघुकथा.com
 5.साहित्यसरिता
 6.हिन्दी नेस्ट
 6.सृजनगाथा
 7.कृत्या
 8.हिन्दी हाइकु
 9.सेतु साहित्य

"साहित्यसुधा को सब्सक्राइब करें"

सहित्यसुधा की सूचना पाने के लिये कृपया अपना ई-मेल पता भेजें